ना डाट ना फटकार,प्रेम से ही करा गए सब काम

Scn news india

जिले के स्वास्थ्य एवं शिक्षा सुधार में किए अब तक का बेहतरीन कार्य…विकास की एक नयी लकीर खींच कर जा रहे है श्री डोमन सिंह

बलौदाबाजार,3 जुलाई 2022/ राज्य सरकार ने जिलें के कलेक्टर डोमन सिंह का स्थानांतरण राजनांदगांव कलेक्टर के रूप में नियुक्त किया है। उनकी जगह अब जिलें की कमान बस्तर कलेक्टर रहे 2021 बैच के आईएएस रजत बंसल को दिया है। कलेक्टर डोमन सिंह ने 18 जनवरी 2022 को जिले के 7 वे कलेक्टर के रूप में पदभार ग्रहण किया था। उन्हें कोविड के तीसरे लहर के बाद या यूं कहें जब कोविड कम हुआ तब उन्हें जिले की जिम्मेदारी मिली थी। इस समय चुनौती राज्य की लोक कल्याणकारी योजनाओं को जमीनी स्तर में उतारना एवं विकास कार्यो को दिखाना था। लगभग 5 माह 12 दिन के अल्प समयावधि में उन्होंने जिलें में विकास संबंधित महत्वपूर्ण कार्य किए। खास कर निर्माण,शिक्षा एवं स्वास्थ्य क्षेत्र में जो सुधार कार्य किए वह बेहद सराहनीय एवं प्रशंसनीय है। इसके लिए राज्य स्तर में भी जिलें के उपलब्धियों को लेकर कई बार सरहाना हुई है। इसके साथ ही उन्होंने प्रशासनिक कसावट एवं राजस्व प्रकरणों के निराकरण के मामले में तेजी लाए। वह जाते जाते विकास की वह लंबी लकीर खींचा है जिसे अन्य कलेक्टर के लिए वहां तक पहुँच पाना बहुत ही चुनौती भरा होगा। इस तरह किए गए सकारात्मक पहल एवं विकास कार्यो के लिए जिला वासी श्री डोमन साहब को हमेशा याद करेंगे। उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान ना किसी को डांट लगाया ना कड़े शब्दों में बात की। सभी अधिकारी कर्मचारियों से केवल प्रेम से ही बात किया। साथ ही किसी एक भी अधिकारी-कर्मचारी को नोटिस नही दिया। जो अपने आप मे एक मिशाल है। उनका शांत एवं सौम्य व्यवहार हमेशा दिल को छू जाता था। उनकी छत्तीसगढ़ी बोली के तो लोग कायल थे। उन्होंने अंत तक जागरूकता के प्रति संदेश देते रहें।

गौधन न्याय योजना के क्रियान्वयन में सबसे आगें
कलेक्टर डोमन सिंह जब जिले में आए तब तब जिलें के कुल 644 ग्राम पंचायतों में लगभग 196 ग्रामों में गौठान स्वीकृत हुए थे। उन्होंने अपने कार्यकाल मे। जिलें के 644 ग्राम पंचायतों में से 644 ग्राम पंचायतों में गौठानों को स्वीकृति दिया है। इस तरह शत प्रतिशत ग्राम पंचायतों में गौठान स्वीकृत वाले राज्य के अग्रणी जिले में शुमार हो गए है। इन गौठानों में लगभग 4 सौ से अधिक गौठानों में गौधन न्याय योजना के तहत नियमित रूप से गोबर की खरीदी हो रही है। जिससे निश्चित ही गरीब, गौ-पालको,चरवाहा, किसानों एवं महिला स्व सहायता के सदस्यों को आर्थिक लाभ मिल रहा है। गौधन न्याय योजना का विस्तार करते हुए इसका पहुंच जेल के भीतर एवं बारनवापारा क्षेत्र के जंगलों तक कर दिया। आज जिला प्रदेश में गौधन न्याय योजना के क्रियान्वयन में तीसरा स्थान है।

मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान मुख्यमंत्री सुपोषण योजनांतर्गत 1 से 3 वर्ष के लगभग 10 हजार बच्चों एवं 15 से 49 वर्ष के 12 हजार एनीमिक महिलाओं को गरम भोजन मुहैया कराने का लक्ष्य रखा था। 1 फरवरी 2022 से संचालित इस योजना के तहत 1 से 3 वर्ष के लगभग 6 हजार 4 सौ बच्चों एवं 8 हजार एनीमिक महिलाएं लाभान्वित हो रहे है। निश्चित ही यह कुपोषण की स्तर को कम करने में मील का पत्थर साबित होगा। इसके अतिरिक्त बारनवापारा क्षेत्र के 30 आंगनबाड़ी केन्द्रों में 1 हजार 65 बच्चों को गणवेश,जिलें के 2 सौ 61 आंगनबंाड़ी केन्द्रों में गैस सिलेन्डर एवं 6 सौ आंगनबाड़ी केन्द्रों में खाने बनाने का बर्तन का वितरण किया जाना निर्धारित है।

स्वास्थ विभाग स्वास्थ्य विभाग के तहत मुख्यमंत्री हॉट बाजार योजना में खनन प्रभावित गांवों के बाजारों में ही क्लीनिक बनाकर एक रोल मॉडल पूरे राज्य को प्रस्तुत किये गये है। पूरे देश मे केरल के बाद किसी गावों में इस तरह का भवन बनाना काबिले तारीफ है। मुख्यमंत्री हाट बाजार योजना में
पहले जहां प्रति हाट बाजार 40 मरीजों लाभान्वित होते थे आज 123 मरीज प्रति हॉट बाजार लाभान्वित हो रहे है। इसी तरह जिला हॉस्पिटल में स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार करते हुए। डायलिसिस मशीन,सियान मशीन,लिफ्ट की सुविधा,हमर लैब का विस्तार,वायरोलॉजी लैब की स्थापना, रेडक्रॉस के लिए भवन मिले कार्यों में शामिल है।

हौसलों के उड़ानों को पंख लगाते हुए नव प्रेरणा निःशुल्क कोचिंग सेंटर- कलेक्टर डोमन सिंह के विशेष प्रयासों से संचालित हो रहें नव प्रेरणा निःशुल्क कोचिंग सेंटर प्रतियोगी परीक्षाओं के तैयारियों में लगें युवाओं को एक नई रोशनी दिखा रही है। आज यह सेंटर बहुत ही कम समय मे प्रतियोगी परीक्षा के तैयारी में लगें हुए छात्रों के हौसलों के उड़ानों को पंख लगा रहें है। कोचिंग के संचालन स्वरूप को बदलते हुए कलेक्टर ने ऐतिहासिक कदम उठाते हुए कलेक्टोरेट की सभाकक्ष को छात्रों के लिए खोल दिया। ऑनलाइन माध्यम से नवप्रेरणा कोचिंग सेंटर का विस्तार करते हुए इसे जिला मुख्यालय से विकासखंड मुख्यालयों एवं नगरीय निकाय तक ले गए। पहले जहांऑफलाइन माध्यम से 100 छात्र लाभान्वित होते थे। आज ऑनलाइन माध्यम से 350 से अधिक छात्र नियमित रूप से लाभान्वित हो रहे है। जहां पर छात्रों को संघ लोक सेवा, छत्तीसगढ़ लोक सेवा एवं व्यापमं जैसे अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की निःशुल्क तैयारियां की जा रही है। वर्तमान समय मे सुबह 6 से लेकर 9 बजें तक हफ्ते में 4 दिन कक्षाओं का संचालन हो रहा है। जिसमें जिला मुख्यालय बल्कि दूर दराज जैसे कसडोल,भाटापारा,पलारी विकासखण्ड के बहुत से गावों के छात्र प्रतिदिन सुबह यहां पढ़ने आतें है।

समर कैम्प
इसी तरह दो चरणों में हुए समर कैम्पों में साढे़ 7 हजार से अधिक बच्चों को लाभान्वित किया गया है।

निर्माण कार्य- जिला मुख्यालय में संयुक्त जिला कार्यालय में वृहद गार्डन, शहीद वीर नारायण सिंह की आदमकद प्रतिमा,सी-मार्ट,गढ़ कलेवा, तहसील कार्यालय, उप पंजीयक कार्यालय,पीडब्ल्यूडी गार्डन, कुकरदी में नर्सरी का निर्माण किया जा रहा है। साथ ही जिलें के सभी नगरीय निकायों में तालाबों का गहरीकरण का भी कार्य किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त निर्माण कार्यों में राम वन गमन पथ अंतर्गत मार्ग में धनुष आकार गेट, प्रमुख ग्रामों में कौशिल्या वाटिका, सभी तहसीलों में गार्डन एवं सभागार, जीएडी कालोनी में ब्लॉक प्लांटेशन शामिल है। इसके अतिरिक्त पर्यटन क्षेत्र बारनवापारा में बोटिंग की सुविधा प्रारंभ किया जा रहा है।
बलौदाबाजार नगर स्थित सी मार्ट की प्रशंसा राज्य में हुई है।

नवाचारों में:- माह के प्रथम शनिवार को गुड मॉर्निग बलौदाबाजार के नाम से बेहतर स्वास्थ्य के लिए सुबह दो घंटे योगासान,जुम्बा, खेलकूद सहित मनोरंजक कार्यक्रम आयोजित किया जाता था। कार्यक्रम का विस्तार जिला मुख्यालय से लेकर गांवों तक था। इसी तरह माह के दूसरे शनिवार को शासकीय कार्यालयों की साफ-सफाई अभियान चलाया जाता था। यह अभियान एक जन आंदोलन में तब्दील हो गया था। जिसके तहत 11 जून को 5 हजार 997 विभिन्न शासकीय संस्थाओं में 54 हजार 159 अधिकारी एवं कर्मचारियों ने मिलकर साफ-सफाई किये। इस रिकार्ड उपलब्धि को एशिया, इंडिया एवं गोल्डन बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज कराने दावा प्रस्तुत किया गया। जिसे स्वीकार भी कर लिया गया।

गौठान मेला- गौठानों को स्वालंबन बनाने के उद्देश्य से गौठान मेला का आयोजन किया गया। इसके तहत 8 से 28 फरवरी 2022 तक 31 पूर्ण विकसित गौठानों में गौठान मेले का आयोजन किया गया। मेले के तहत अन्य गौठान के लोगो को प्रशिक्षण दिया गया। इसके साथ ही 2 हजार 423 महिला स्व सहायता समूहों ने अपनी उत्पादों का प्रदर्शनी लगाकर 5 लाख 184 रूपये का उत्पादों का विक्रय किया गया।

बिहान मेला महिलाओं को सशक्त एवं गौठानों में बने एकीकृत विक्रय को बढ़ाने के उद्देश्य से जिलें के प्रत्येक विकासखंड मुख्यालयों में बिहान मेले का आयोजन किया गया। इसके तहत 5 सौ 99 महिला स्व सहायता समूहों ने कुल 7 लाख 83 हजार 610 रूपये का विक्रय किया गया।

सांवरा बस्ती उन्नयन:- पीने का पानी,पानी टंकी , नवीन आंगनबाड़ी एवं स्वास्थ्य की निरंतर सुविधा,शत् प्रतिशत आयुष्मान कार्ड,की सुविधा उपलब्ध करायी गयी।

रह गयी कुछ अधूरी ख्वाहिश, आने वाले कलेक्टर के लिए होगी चुनौती- जिलें में कुछ विकास कार्य अधूरे रह गया। जिसे नये कलेक्टर को पूर्ण करने की जिम्मेदारी होगी। इन अधूरे कार्य मे मेडिकल कॉलेज,जिला मुख्यालय सहित विकासखंड मुख्यालयो में सी मार्ट, जिला मुख्यालय बन रही आडिटोरियम का शुभारंभ,जिला संग्रहालय की स्थापना एवं महात्मा गांधी जी के प्रवास के दौरान बलौदाबाजार में आये हुए ऐतिहासिक स्थल,कुँआ,को संरक्षण करने के उद्देश्य से पुरानी मंडी परिसर को जीर्णोद्धार कर उनके स्मृति में गार्डन बनाने की महत्वाकांक्षी योजना अधूरी रह गयी। इस योजना को लेकर वह व्यक्तिगत रूप से भी काफी प्रयास कर रहे थे। इसके साथ ही जिला हॉस्पिटल में अत्याधुनिक सिटी स्कैन, लेप्रोस्कोपिक मशीन एवं एक नियमित एनेस्थीसिया डॉक्टर की पदस्थापना करने के लिए प्रयास अधूरी रह गयी।