बूंदाबांदी के साथ हुई सुबह की शुरुआत, दोपहर बाद बौछारें पड़ने के आसार

Scn news india
मनोहर
दिन के तापमान में 05 डिग्री सेल्सियस तक गिरावट। वातावरण में नमी मौजूद। प्रदेश के विभिन्न जिलों में रुक-रुककर वर्षा का दौर जारी।
भोपाल । अलग–अलग स्थानों पर सक्रिय मौसम प्रणालियों के असर से वातावरण में काफी नमी मौजूद है। इसके चलते मध्यप्रदेश के अधिकतर जिलों में रुक-रुक कर वर्षा हो रही है। राजधानी में भी बादल छाए हुए हैं। शुक्रवार को सुबह के समय बूंदाबांदी होने से वातावरण में कुछ ठंडक घुल गई। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक दोपहर के बाद शहर में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। उधर पिछले 24 घंटों के दौरान शुक्रवार सुबह साढ़े आठ बजे तक होशंगाबाद में 110.6, रतलाम में 68, पचमढ़ी में 63, गुना में 55, मंडला में 31.6, खंडवा में 19, सिवनी में 11.4, धार एवं बैतूल में 11.2, उमरिया में 10.4, इंदौर में 9.8, सागर में 6.8, रीवा में 4.2, खरगोन में 2.4, भोपाल में 1.8 मिलीमीटर वर्षा हुई।
मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को राजधानी का न्यूनतम तापमान 24.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जो सामान्य रहा। साथ ही यह गुरुवार के न्यूनतम तापमान 26.4 डिग्री सेल्सियस से 2.4 डिग्री सेल्सियस कम रहा। गुरुवार को शहर का अधिकतम तापमान 28.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया था। जो सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस कम रहा था। यह बुधवार के अधिकतम तापमान 33.3 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले पांच डिग्री सेल्सियस कम रहा था। बादल छाए रहने के कारण रात के तापमान में कमी हुई। शुक्रवार को शहर में सुबह से ही बादल छाए हुए हैं। सुबह के समय कहीं–कहीं बूंदाबांदी भी हुई। इस वजह से शुक्रवार को दिन का तापमान 25 डिग्री सेल्सियस के आसपास बने रहने की संभावना है।
ये मौसम प्रणालियां हैं सक्रिय
वर्तमान में पश्चिम-मध्य अरब सागर में हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। पूर्व-पश्चिम ट्रफ पंजाब-हरियाणा से लेकर दक्षिणी उत्तर प्रदेश, पूर्वोत्तर मध्य प्रदेश, उत्तरी छत्तीसगढ़, झारखंड और पश्चिम बंगाल से होते हुए पूर्वोत्तर बंगाल की खाड़ी तक विस्तृत है। जबकि दक्षिणी गुजरात से उत्तरी कर्नाटक तट के समांतर अपतटीय ट्रफ समुद्र तल पर बना हुआ है। वातावरण में काफी नमी मौजूद है। इस वजह से राजधानी में शुक्रवार को दोपहर बाद बौछारें पड़ने की संभावना है।