3 दिन के बाद फिर बदलेगा मौसम, 20 जिलों में आज बारिश का अलर्ट, भोपाल-इंदौर में तापमान में वृद्धि

Scn news india
बंगाल की खाड़ी और अरब सागर दोनों तरफ से निम्न दाब बढ़ने के कारण मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश देखने को मिल सकती है।
भोपाल। मध्य प्रदेश में मानसून (MP Monsoon) एक्टिव हो गया। हालांकि MP Weather में मानसून के एक्टिव होने के साथ ही कई क्षेत्रों में बूंदाबांदी (drizzle) देखने को मिली है। इसी बीच मौसम वैज्ञानिकों (weather scientists) की माने तो मध्य प्रदेश के मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा। दरअसल ज्यादातर हिस्सों में हल्की बारिश देखने को मिल रही है। तापमान (temperature) में नमी बनी हुई है। शुक्रवार के तापमान की बात करें तो अधिकतम तापमान 36 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था। हालांकि आज कई जिलों में बूंदाबादी का अलर्ट जारी किया गया है।
मौसम विभाग की माने तो दक्षिण पश्चिम मानसून की उत्तरी सीमा पोरबंदर, बडौदा, शिवपुरी, चुर्क से होकर गुजर रही है। वहीं से 24 घंटे के दौरान प्रदेश के शहडोल जबलपुर संभाग के जिलों में अनेक स्थानों पर जबकि नर्मदा पुरम संभाग के जिले में कई स्थानों पर बारिश देखने को मिली है। इसके अलावा रीवा उज्जैन और इंदौर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बारिश देखने को मिल रही है। हालांकि प्रदेश के अन्य हिस्सों में मौसम शुष्क बना हुआ है।
आज रीवा शहडोल संभाग सहित बड़वानी, खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर, पन्ना, हरदा, बैतूल, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, छिंदवाड़ा और बालाघाट के कई जिलों में गरज चमक के साथ बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा रीवा, शहडोल संभाग के जिलों में और सिवनी, मंडला, छिंदवाड़ा में गरज के साथ बिजली चमकने और गिरने की संभावना जताई गई है जबकि डिंडोरी, बैतूल, बड़वानी, खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर, पन्ना जिले में गरज के साथ बिजली चमकने और गिरने से ही तेज हवा की संभावना जताई गई है।
भोपाल के मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो 2 से 3 दिन तक मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में आसमान में बादल छाए रहेंगे। हल्की गर्म हवाएं चलेंगी लेकिन बारिश ना के बराबर होने से तापमान में एक से दो फीसद का इजाफा देखने को मिल सकता है। बंगाल की खाड़ी और अरब सागर दोनों तरफ से निम्न दाब बढ़ने के कारण मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश देखने को मिल सकती है। शनिवार को राज्य के 24 जिलों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना जताई गई है। वहीं कुछ जिलों में येलो अलर्ट भी जारी किया।
इधर अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में लो प्रेशर एरिया बंद होने की वजह से मानसून में नमी देखने को नहीं मिल पा रही है। हालांकि 27 जून के बाद इंदौर भोपाल समेत मध्य प्रदेश के कई हिस्से में तेज बारिश का अनुमान जताया गया है। वही डिंडोरी, सिंगरौली, जबलपुर-शहडोल, मंडल, सतना में मंगलवार से बारिश का दौर देखने को मिलेगा। इससे पहले प्रदेश में सबसे गर्म जिला राजगढ़ रहा है। वही सबसे गर्म रात उमरिया में रिकॉर्ड की गई है।
खंडवा और पचमढ़ी को सबसे ठंडी जगह के रूप में चुना गया है। दरअसल पचमढ़ी में रात ठंडी रिकॉर्ड की गई है। वही 28 जून के बाद एक बार फिर से प्रदेश में झमाझम शुरू होने की संभावना जताई गई है। इस दौरान राजधानी भोपाल में 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की भी संभावना जताई गई। वही पूर्वानुमान की माने तो ग्वालियर चंबल सहित सागर संभाग और जबलपुर नर्मदा पुरम में आज बूंदाबादी देखने को मिल सकती है।
Live Web           TV