फिर धड़का एक गरीब का दिल, वर्षो से बीमार गरीब बबलेश का हुआ सफल ऑपरेशन, भगवान बन कर सामने आए डॉक्टर राम भगत विश्वकर्मा

Scn news india

मोहम्मद आज़ाद 

पन्ना जिले के तहसील अजयगढ़ जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत पाठा में रहने वाले बबलेश कुशवाहा पिता पट्टन कुशवाहा कई दिनों से बीमार था।कुछ दिनों से बबलेश कुशवाहा को सर्दी,जुखाम,बुखार के साथ साथ थकावट भी बनी रहती थी।जिसका इलाज करवाते करवाते मरीज का परिवार बहुत परेशान था।


जानकारी के अनुसार मरीज का परिवार आर्थिक रूप से भी कमजोर था । राज्य सरकार की मंशा के मुताविक अजयगढ़ में संचालित आर बी एस के की टीम ग्राम पाठा के स्कूल में बच्चो का स्वाथ्य परीक्षण करने पहुची । जहाँ डॉ राम भगत विश्वकर्मा के द्वारा बबलेश के स्वास्थ्य का परीक्षण किया गया । स्वस्थ परीक्षण उपरांत पाया गया कि बबलेश के दिल में छेद हैं और उसका दिल सामान्य बच्चो की तरह नहीं धड़क रहा है जिसके कारण वह बार बार बीमार होता है।बबलेश के परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने से वह बाहर बड़े अस्पताल में इलाज करवाने में समर्थ नहीं थे। तब डॉ राम भगत विश्वकर्मा के द्वारा सरकार द्वारा संचालित राष्ट्रीय बाल स्वाथ्य कार्यक्रम के बारे में बताया गया।जिसमें संपूर्ण इलाज फ्री किया जाता है। इसी तारतम्य में भोपाल से अनुबंधित अस्पताल द्वारा पन्ना जिले में एक केम्प का आयोजन किया गया।जिसमें बबलेश को दिखाया गया।और इसके बाद पन्ना जिले से बबलेश को भोपाल भेजा गया। जहा पर डॉक्टरों की एक टीम के द्वारा जांच करने के बाद पाया गया कि बबलेश एक बहुत ही जटिल बीमारी से ग्रसित है । जिसका इलाज भारत के कुछ गिने चुने अस्पतालों में ही उपलब्ध है जिसके बाद आर्थिक रूप से कमजोर माता पिता परेशानी से घिर गए परंतु भगवान की मर्जी कुछ और थी।

कुछ दिनों के बाद ही उन चुनिंदा अस्पतालों में से एक नारायण हृदयालय मुम्बई के द्वारा आर बी एस के तहत सतना में एक केम्प का आयोजन किया गया।जिसके तहत 0 से 18 वर्ष तक के हृदय रोगियों की जांच की जानी थी।जिसकी जानकारी डॉ राम भगत विश्वकर्मा प्राप्त हुई विना समय गवाए डॉक्टर द्वारा बबलेश के परिवार को दी गई । परिवार ने बिना देर किए केम्प में पहुंच कर बबलेश की फ्री में जांच करने के बाद पुराना इस्टीमेट को कैंसिल करने के बाद नया इस्टीमेट बनाया गया । फिर पन्ना के वरिष्ट अधिकारियों की सहायता से प्राकलन तैयार कर आदेश जारी किया गया डॉक्टरों ने मरीज के परिजन से कहा घबराने की जरूरत नही डॉक्टरों द्वारा मरीज का सफल आपरेशन करवाया गया । ऑपरेशन के बाद आज बबलेश पूर्ण रूप से स्वास्थ्य है।ऑपरेशन ओर समस्त जांचों के रूप मे शासन के द्वारा लगभग 290000 रुपये की सहायता गरीब मरीज के परिवार को प्रदान की गई । इनमें जिला मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एल के तिवारी,जिला नोडल अधिकारी आर बी एस के डॉ प्रदीप गुप्ता,डॉ सुबोध खम्परिया, डॉ के पी राजपूत,डॉ राम विश्वकर्मा का विशेष सहयोग रहा।इसके साथ साथ डॉ राम भगत विश्वकर्मा के द्वारा बबलेश के परिवार को आर्थिक रूप से भी सहायता प्रदान की गई ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.