इन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, बिजली गिरने की भी चेतावनी, मानसून की दस्तक जल्द

Scn news india
मनोहर
भोपाल। MP Weather Update Today 15 June 2022: वर्तमान में अरब सागर सहित अलग-अलग स्थानों पर एक साथ 5 वेदर सिस्टम एक्टिव है, जिसके चलते प्रदेश में कई जिलों में रुक रुक कर बारिश हो रही है। एमपी मौसम विभाग (MP Weather Department) ने आज बुधवार 15 जून 2022 को 6 संभागों और 12 जिलों में गरज चमक के साथ बारिश की चेतावनी जारी की गई है, वही 3 दर्जन जिलों में बिजली गिरने और चमकने को लेकर येलो अलर्ट जारी किया है।इसके अलावा 6 जिलों में भारी बारिश की संभावना है।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, रीवा, नर्मदापुरम, उज्जैन, सागर, जबलपुर, ग्वालियर और शहडोल संभागों में कहीं कहीं बारिश दर्ज की गई। आज बुधवार 15 जून 2022 को नर्मदापुरम, रीवा, सागर, भोपाल, शहडोल और जबलपुर संभागों के साथ बुरहानपु, खंडवा, खरगोन, बड़वानी, अलीराजपुर, धार, देवास, गुना, अशोकनगर, शिवपुरी, ग्वालियर और अशोकनगर जिलों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना है। वही गरज चमक के साथ बिजली चमकने गिरने और 40-50 किमी/घंटे की रफ्तार से हवा चलने को लेकर येलो अलर्ट जारी किया गया है।इधर, उमरिया, कटनी, जबलपुर, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा और सिवनी जिलों में भारी बारिश की संभावना है।
एमपी मौसम विभाग की मानें तो वर्तमान में अरब सागर में हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। कर्नाटक से केरल तक एक अपतटीय ट्रफ लाइन, पूर्वी उत्तर प्रदेश होकर मणिपुर तक भी एक ट्रफ लाइन और दक्षिण-पूर्वी उत्तर प्रदेश से पूर्वी मप्र होकर छत्तीसगढ़ तक एक ट्रफ लाइन बनी हुई है। इसके अतिरिक्त पाकिस्तान के आसपास एक पश्चिमी विक्षोभ भी मौजूद है। इन वेदर सिस्टमों के कारण विभिन्न जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश हो रही है।वहीं पूर्वी मध्य प्रदेश में 15 और 16 जून को और छत्तीसगढ़ में 15 से 17 जून के बीच भारी बारिश हो सकती है।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, 15 जून को ग्वालियर में गर्मी के आसार है लेकिन बादल छाए रहेंगे। हवा में नमी बढ़ने पर आंधी व बूंदाबांदी के आसार रहेंगे। प्रदेश में मानसून का प्रवेश करने वाला है, ऐसे में 17 जून से मानसून पूर्व की हलचलों में तेजी आएगी।अगले 24 घंटे में आंधी व बूंदाबांदी के आसार हैं। इंदौर में 18 जून के पश्चात थी मानसून के आने की संभावना है। इंदौर में अब तक इस प्री मानसून सीजन में 50 मिलीमीटर बारिश हुई। भोपाल, इंदौर, उज्जैन, नर्मदापुरम संभागों के जिलों में वर्षा की गतिविधियों में कमी आने की संभावना है। मानसून के तीन दिन बाद मप्र में दस्तक देने की उम्मीद है।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, पिछले 24 घंटे में सबसे अधिक तापमान ग्वालियर, सीधी और दतिया में 43 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। पिछले 24 घंटों के दौरान बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे तक मलाजखंड में 14, दमोह में 2.0 मिमी बारिश हुई। छिंदवाड़ा, सतना में बूंदाबांदी हुई।प्रदेश में सबसे अधिक 43 डिग्री सेल्सियस तापमान ग्वालियर एवं सीधी में रिकार्ड किया गया। पाकिस्तान से आ रही हवाओं ने मानसून की गति रोक दी है, ऐसे में अब 3-4 दिनों में मालवा से ना होकर जबलपुर के रास्ते मानसून की एंट्री होने के आसार है। भोपाल में मानसून की एंट्री 18 तक हो सकती है। इधर, इंदौर और उसके आसपास के इलाकों में दो दिन बाद ही बारिश के आसार बन रहे हैं।