अव्यवस्थाओं के बीच चल रहा बीएड काॅलेज, एनसीटीई के नियमों की अनदेखी

Scn news india

संदीप विश्वकर्मा

  • अव्यवस्थाओं के बीच चल रहा बीएड काॅलेज
  •  एनसीटीई के नियमों की अनदेखी
  •  काॅलेज में नहीं है योग्य शिक्षक
  •  मूक दर्शक बना प्रशासन

पन्ना। जिला मुख्यालय में इन्द्रपुरी काॅलोनी में स्वामी विवेकानंद बीएड काॅलेज का संचालन किया जा रहा है। जिला मुख्यालय से ही लगे गांधीग्राम में भी बीएड काॅलेज का संचालन किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि वर्षों से चल रहे इन काॅलेजों में छात्रों का आर्थिक शोषण किया जा रहा है, लेकिन इस ओर जिला प्रषासन का ध्यान अभी तक नहीं गया है। बीएड काॅलेज में एनसीटीई द्वारा तय किये गये मापदण्डों का पालन हो रहा है या नहीं, इसे देखने वाला कोई नहीं है। जहां एक ओर इस काॅलेज में छात्रों से मनमानी फीस वसूली की चर्चाएं आये दिन सुनीं जा सकती हैं, वहीं बीएड करने वाले छात्रों को पढ़ाने के लिए यहां योग्य शिक्षक भी नहीं है। बावजूद इसके काॅलेज का संचालन कागजी घोड़े दौड़ाकर किया जा रहा है। काबिलेगौर है कि किसी भी बीएड काॅलेज में एमएड की योग्यता से नीचे का शिक्षक नहीं होना चाहिए। साथ ही उसका अनुभवी भी होना चाहिए। बीएड काॅलेज में भले ही कागजों में अनुभवी शिक्षक नजर आएं, लेकिन धरातल पर स्थिति कुछ और ही बयां करती है। इस तरह के बीएड काॅलेजों की निगरानी को लेकर बरती जाने वाली लापरवाही भी इनके बेलगाम होने के पीछे एक बड़ा कारण कहा जा सकता है।
उल्लेखनीय है कि इन्द्रपुरी काॅलोनी में स्थित स्वामी विवेकानंद काॅलेज द्वारा बीएड के साथ-साथ अन्य तरह के व्यवसायिक पाठ्यक्रम भी संचालित तो किए जा रहे हैं, लेकिन इन पाठ्यक्रमों के लिए यहां योग्य व अनुभवी शिक्षक नहीं हैं। छात्रों से विभिन्न पाठ्यक्रमों के नाम पर मोटी फीस वसूली जाती है, लेकिन छात्रों को सुविधाएं उस अनुपात में नहीं मिल पातीं।

खेल मैदान भी नहीं

स्वामी विवेकानंद बीएड काॅलेज इन्द्रपुरी काॅलोनी द्वारा विभिन्न पाठ्यक्रमों के अंतर्गत छात्रों को कोर्स कराए जाते हैं, लेकिन यह काॅलेज एनसीटीई की कसौटी पर खरा नहीं उतरता। यदि देखा जाये तो जिला मुख्यालय में यह काॅलेज इन्द्रपुरी काॅलोनी की तलैया के सामने संचालित हो रहा है। काॅलेज के पास छात्रों के लिए खुद का खेल मैदान भी नजर नहीं आता। यह बात दीगर है कि कागजों में खेल मैदान के साथ अन्य मानदण्ड की पुष्टि हो रही हो, परंतु जमीनी सच्चाई किसी से छुपी नहीं है।

एक ही भवन में चल रहा बालक छात्रावास

इन्द्रपुरी काॅलोनी स्थित स्वामी विवेकानंद महाविद्यालय काॅलेज के भवन में ही शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय का बालक छात्रावास भी संचालित किया जा रहा है। बीएड काॅलेज के भवन में शासकीय बालक छात्रावास का संचालन कहां तक उचित कहा जा सकता है। कुल मिलाकर अफसरों की चाटूकारिता का ही नतीजा है कि बीएड काॅलेज का संचालन करते हुए छात्रावास संचालक द्वारा लाखों की सम्पत्ति अर्जित कर ली गयी। लोग तो अब खुलकर यह बात कह रहे हैं कि बीएड काॅलेज संचालक व उनके परिवार के सदस्यों की सम्पत्ति की जांच कराई जानी चाहिए।