मण्डला पुलिस ने ग्राम खम्हरिया में हुई अंधी हत्या का 12 घण्टे में किया खुलासा

Scn news india

योगेश चौरसिया जिला ब्यूरो 

मंडला – 100 डायल को सूचना मिली कि ग्राम खम्हरिया थाना मवई में एक आदमी अपने घर पर मृत  पड़ा हुआ है जिसकी सूचना पर थाना मवई पुलिस को मोबाईल फोन द्वारा सूचना मिली कि ग्राम खम्हरिया में एक आदमी का अपने घर में मरा पड़ा हुआ हैं जिसकी सूचना तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को घटना के संबंध में अवगत कराया गया तथा मौके की कार्यवाही हेतु मय विवेचना किट हमराह स्टॉफ के घटना स्थल ग्राम खम्हरिया पहुँचा एवं वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन पर कार्यवाही की जाकर पृथम दृष्टया मामला हत्या का पाये जाने से आरोपी फूलसिंह राठौर के विरूद्ध अपराध क्रं. 42/2022 धारा 302 ताहि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया।

मामले का खुलासा/टीम का गठन:- प्रकरण की गंभीरता को देखते हुये पुलिस अधीक्षक महोदय मण्डला श्री यशपाल सिंह राजपूत के निर्देशन में, अतरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय मण्डला श्री गजेन्द्र सिंह कंवर एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस बिछिया खुमान सिंह ध्रुव के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी मवई निरी.संतोष सिंह सिसोदिया को इस हत्या का जल्द से जल्द खुलासा कर आरोपी को गिरफ्तार करने के लिये आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया जिससे थाना प्रभारी मवई निरी. संतोष सिंह सिसोदिया द्वारा अलग अलग टीम गठित कर साक्ष्य एकत्र किये गये विवेचना के दौरान पुलिस टीम को जानकारी मिली कि दिनांक 08.06.2022 को आरोपी फूलसिंह पिता रतन सिंह राठौर उम्र करीबन 51 वर्ष निवासी ग्राम खम्हरिया का जो अपने पिता रतन सिंह पिता घासीराम राठौर उम्र करीबन 70 साल निवासी खम्हरिया को रूपये पैसे की बात को लेकर विवाद झगड़ा होने पर फूलसिंह के द्वारा धारदार हथियार (कुल्हाड़ी) से हत्या की घटना घटित कर गाँव से फरार हो गया था जो मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि आरोपी फूलसिंह राठौर सकवाह तिराहा से भागने के फिराक में बैठा था जिसे हमराह पुलिस स्टॉफ के घेराबंदी कर पकड़ा तथा मौके पर आरोपी को गिरफ्तार कर अभिरक्षा में लेकर पूछताछ किये जो हत्या करना कबूल किया एवं आरोपी फूलसिंह राठौर से घटना में प्रयुक्त आलाजरर जप्त किया जाकर आरोपी को आज दिनांक 09.06.2022 को गिराफ्तार किया जाकर जिसे न्यायिक रिमाण्ड हेतु माननीय न्यायालय में पेश किया गया।

महत्वपूर्ण भूमिका:- उक्त अंधी हत्या के खुलासे में श्रीमान अनुविभागीय अधिकारी पुलिस बिछिया खुमान सिंह ध्रुव के मार्गदर्शन में निरी संतोष सिंह सिसोदिया, उनि पुष्पक शर्मा, सउनि अनिल बिसेन,सउनि योगेश •मरावी, प्रआर 103 दशरथ कुलस्ते, आर.659 हिम्मत, आर.692 राकेश, आर. 275 दयाशंकर, आर. 568 धीरेन्द्र आर. 646 सचिन मर्सकोले एवं डायल 100 चालक राजकुमार की महत्वपूर्ण भूमिका रही।