गर्भवती महिला की संदिग्ध मौत के बाद उपद्रव ,ससुराल पक्ष और मायके पक्ष में जमकर हाथापाई

Scn news india

राजेश साबले जिला ब्यूरो 

बैतूल -जिला अस्पताल में दो पक्षों के बीच जमकर हाथापाई होगी दोनों पक्ष आपस में रिश्तेदार हैं एक विवाहित गर्भवती महिला की संदिग्ध मौत के बाद ससुराल पक्ष और मायके पक्ष में जमकर हाथापाई हो गई ससुराल पक्ष में पुलिस पुलिस को घटना का आवेदन दिया है

महिला की मौत के विषय में ससुराल पक्ष का कहना है कि महिला की मौत बीमार होने की वजह हुई है। जबकि मृतिका के मायके पक्ष के लोगों का कहना है कि वह गर्भवती थी इसके बावजूद उसका शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताडि़त किया जा रहा था। साथ ही गर्भपात के लिए लगातार दबाव बनाया जा रहा था। यह भी आरोप है कि शादी के बाद से लगातार दहेज की मांग की जा रही थी। बहरहाल पुलिस पूरे मामले की जांच करने में जुट गई है।

एक नजर में पूरा घटनाक्रम

प्राप्त जानकारी के अनुसार बबीता पति सागर महाले उम्र 24 साल निवासी झल्लार 4 से 5 माह की गर्भवती थी। सोमवार रात्रि में उसकी हालत बिगडऩे पर उसे ससुराल के लोग पहले झल्लार अस्पताल लेकर गए, वहां पर हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया था लेकिन परिजन बबीता बैतूल में एक निजी अस्पताल में लेकर गए जहां डॉक्टर ने परीक्षण उपरांत मृत घोषित कर दिया।

4 साल पहले हुई थी शादी

मृतिका बबीता महाले के पति सागर महाले ने बताया कि उसका विवाह चार साल पहले हुआ था। उसका एक बच्चा भी है। सोमवार रात्रि में अचानक बबीता चक्कर आने की वजह से गिर गई थी जिससे उसे झल्लार के अस्पताल ले जाया गया था। झल्लार अस्पताल में एक बॉटल लगाने के बाद बैतूल जिला अस्पताल ले जाने का कहा गया। मैं बबीता को झल्लार में प्राथमिक उपचार कराने के बाद बैतूल में निजी अस्पताल में लेकर आया लेकिन निजी अस्पताल के डॉक्टर ने बबीता को एम्बुलेंस में ही परीक्षण उपरांत मृत घोषित कर दिया।

मायके पक्ष ने लगाए प्रताडि़त करने के आरोप

इधर मृतिका बबीता के भाई संदीप दवंडे और जीजा दुर्गेश कुमार गौर ने बबीता की मौत को लेकर ससुराल पक्ष पर प्रताडऩा का आरोप लगाते हुए कहा कि ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा बबीता को लगातार प्रताडि़त किया जा रहा था जिससे उसकी मौत हुई है। उन्होंने बताया कि वह बबीता से बात भी नहीं करने दे रहे थे और ठीक से भोजन भी नहीं दे रहे थे वहीं खेत में भी खूब काम करा रहे थे। इसी के चलते बबीता की मौत हो गई है।

पीएम रिपोर्ट से स्पष्ट होगी स्थिति

विवाहिता बबीता महाले का डॉक्टरों की पैनल द्वारा पोस्टमार्टम किया गया है । तीन डॉक्टरों द्वारा किए गए पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारण स्पष्ट हो सकेंगे।