प्रधानमंत्री श्री मोदी 31 मई को करेंगे प्रदेश के हितग्राहियों से वर्चुअल संवाद

Scn news india

मनोहर 

भोपाल-प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत मंगलवार 31 मई 2022 को सुबह 10:55 बजे से मध्यप्रदेश की विभिन्न चयनित योजनाओं के हितग्राहियों से वर्चुअल संवाद करेंगे। राज्य, जिला और कृषि विज्ञान केंद्र स्तर के चयनित सभी हितग्राही इस राष्ट्रीय कार्यक्रम से वर्चुअली जुड़ेंगे। इसके पूर्व राज्य स्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश के चुनिंदा हितग्राहियों के साथ वर्चुअल संवाद करेंगे। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण सीएम वेबकास्ट, इलेक्ट्रॉनिक चैनल और सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर किया जाएगा।

कार्यक्रम सुबह 9:45 बजे से शुरू होकर 4 चरणों में सम्पन्न होगा। पहले चरण में 9:45 से 10:15 तक हितग्राही मूलक योजनाओं पर केन्द्रित फिल्मों का प्रदर्शन किया जायेगा। दूसरे चरण में 10:15 से 10:30 बजे तक चिन्हित योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये हितग्राहियों, जन-प्रतिनिधियों और नागरिकों के बीच संवाद कर सुझाव प्राप्त किये जायेंगे। इन सुझावों को एक निर्धारित पोर्टल पर अपलोड किया जायेगा। कार्यक्रम के तीसरे चरण में 10:30 से 10:50 बजे तक मुख्यमंत्री श्री चौहान राज्य स्तर पर जिलों के चुनिंदा हितग्राहियों के साथ संवाद करेंगे। कार्यक्रम के अंतिम चरण में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 10:55 बजे कार्यक्रम से वर्चुअली जुड़ेंगे। प्रधानमंत्री श्री मोदी राज्य, जिला और कृषि विज्ञान केन्द्र स्तर के कार्यक्रम में सम्मिलित प्रतिभागियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद करेंगे।

संवाद में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण और शहरी), प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, पोषण अभियान, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण और शहरी), जल जीवन मिशन एवं अमृत योजना, प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना, वन नेशन-वन राशन कार्ड, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना, आयुष्मान भारत, हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर, प्रधानमंत्री जन-आरोग्य योजना और प्रधानमंत्री मुद्रा योजनाओं के हितग्राही शामिल होंगे।

कार्यक्रम में मध्यप्रदेश की चिन्हित हितग्राही मूलक योजनाओं पर केंद्रित फिल्मों का प्रदर्शन भी किया जाएगा। हर जिले में हितग्राहियों की सहभागिता के लिए संबंधित मंत्री को नामांकित किया जाएगा। सांसद, विधायक, स्थानीय जन-प्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, समाज-सेवी संस्थाएँ, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजन और अन्य विशिष्ट जनों को आमंत्रित किया जाएगा।