भू-जल स्तर बढ़ाने सम्मिलित प्रयास आवश्यक – श्री फग्गन सिंह कुलस्ते

Scn news india

योगेश चौरसिया जिला ब्यूरो 

मंडला-जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए केन्द्रीय इस्पात एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री श्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि जल स्तर का निरंतर कम होना चिंता का विषय है। जल के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती। भू-जल स्तर को बढ़ाने के लिए सम्मिलित प्रयास आवश्यक हैं। बैठक में राज्यसभा सांसद संपतिया उईके, विधायक मंडला देवसिंह सैयाम, विधायक बिछिया नारायण सिंह पट्टा, विधायक निवास डॉ. अशोक मर्सकोले, जिला पंचायत अध्यक्ष सरस्वती मरावी, उपाध्यक्ष शैलेष मिश्रा, सांसद प्रतिनिधि जयदत्त झा, समस्त जनपद पंचायत अध्यक्ष, कलेक्टर हर्षिका सिंह, पुलिस अधीक्षक यशपाल सिंह राजपूत, सीईओ जिला पंचायत रानी बाटड सहित सभी विभागों के जिलाधिकारी उपस्थित रहे।

श्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि भू-जल स्तर को बढ़ाने के लिए वृहद वृक्षारोपण आवश्यक है। वन विभाग का मूल कार्य वनों का संरक्षण एवं संवर्धन करना है। अतः वनविभाग वृक्षारोपण के कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करे। बफर जोन और मोहगांव प्रोजेक्ट में वृक्षारोपण पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि वृक्षारोपण कार्य में सभी विभाग अपनी सक्रिय सहभागिता सुनिश्चित करें। वृक्षारोपण के दौरान स्थानीय जनप्रतिनिधियों को भी आमंत्रित करें। उन्होंने वृक्षारोपण के लिए प्रभावी योजना तैयार करने के निर्देश दिए। श्री कुलस्ते ने कहा कि जंगलों की लकड़ी की बिक्री से प्राप्त होने वाली राशि का उपयोग जिले के हित में करें। बैठक में सभी वन मंडलाधिकारी बिना पूर्व सूचना के अनुपस्थित थे जिस पर श्री कुलस्ते ने नाराजगी व्यक्त करते हुए उनको कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

केन्द्रीय इस्पात एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री श्री कुलस्ते ने निर्देशित किया कि पदमी से रामनगर घुघरी सड़क निर्माण की कार्यवाही जल्द प्रारंभ कराएं। निर्माण कार्य में विलंब होने की दशा में समुचित सुधार सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि बारिश के पूर्व सभी सड़कों की मरम्मत की जाए। सौभाग्य योजना की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि जो गांव छूट गए हैं उनमें विद्युतीकरण के कार्य जल्द पूर्ण कराने के लिए आवश्यक कार्यवाही करें। गर्म पानी कुण्ड के आसपास लाईट की व्यवस्था करें। उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत घाट कटिंग आदि के कार्यों को भी नियमानुसार स्वीकृति प्रदान करें।

श्री कुलस्ते ने निर्देशित किया कि नहरों के निर्माण तथा मरम्मत के कार्य जून के प्रथम सप्ताह तक पूर्ण करें। भुगतान की कार्यवाही समय पर करें। बफर जोन के ग्रामों में सड़क, बिजली, पानी सहित अन्य मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराएं। प्रत्येक ग्राम को सड़क से जोड़ने की सरकार की कल्पना को साकार करें। श्री कुलस्ते ने तेंदूपत्ता संग्रहण, बोनस तथा कास्ट लाभांश वितरण के संबंध में समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अमृत सरोवर सहित अन्य निर्माण कार्यों के स्थलों में योजना का नाम एवं लागत सहित विस्तृत जानकारी का बोर्ड लगाएं। जिले के समस्त स्टॉप डेमों में मरम्मत कार्य कराते हुए उन्हें उपयोगी बनाएं। खाद एवं बीज की उपलब्धता सुनिश्चित करें। खाद्यान्न वितरण की सशक्त मॉनिटरिंग करें। बैठक में उपस्थित अन्य जनप्रतिनिधियों ने भी विभिन्न विषयों पर अपने विचार रखे।

 

टीम बनाकर कराएं भौतिक सत्यापन

 

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की समीक्षा के दौरान श्री कुलस्ते ने निर्देशित किया कि जल-जीवन मिशन के तहत जिन ग्रामों में कार्य पूर्ण हो चुका है टीम गठित कर कार्यों का भौतिक सत्यापन कराएं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक घर, स्कूल तथा आंगनवाड़ी केन्द्रों तक पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करें। इस संबंध में उन्होंने प्रभावी मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जहां भी पाईप लाईन क्षतिग्रस्त होने की जानकारी है उनमें तत्काल सुधार कराएं। श्री कुलस्ते ने कहा कि प्रत्येक गांव-टोला तक जल की उपलब्धता सुनिश्चित करें। उन्होंने जल परिवहन के संबंध में भी आवश्यक निर्देश दिए।

 

शिक्षा में करें तकनीकि का उपयोग

 

बैठक में श्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने जिले में संचालित शैक्षणिक गतिविधियों तथा परीक्षा परिणामों की विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने कहा कि शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए तकनीकि का उपयोग आवश्यक है। कक्षा दसवी एवं बारहवी के बच्चों के लिए ऑनलाईन क्लास के माध्यम से उपचारात्मक शिक्षण की व्यवस्था करें। बच्चों के कठिन अंशों का प्रभावी तरीके से निराकरण कराएं। कलेक्टर हर्षिका सिंह ने बताया कि जिले में विभिन्न नवाचारों के माध्यम से शिक्षा के स्तर को बेहतर बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इसी प्रकार शिक्षकों की योग्यता तथा क्षमता के अनुसार उनका बेहतर उपयोग किया जा रहा है। उन्होंने सीएम राईज स्कूल, छात्रावास सहित अन्य शैक्षणिक गतिविधियों के संबंध में विस्तृत जानकारी दी।

 

नर्मदा के दोनों तट पर करें पौधरोपण

 

बैठक में राज्यसभा सांसद संपतिया उईके ने कहा कि नर्मदा नदी के दोनों तरफ पौधरोपण के लिए विशेष अभियान संचालित करें। प्रत्येक अधिकारी-कर्मचारी, जनप्रतिनिधि, स्वयंसेवी संगठन, समाजसेवी तथा गणमान्य नागरिकों की सहभागिता करते हुए वृक्षारोपण को जन अभियान बनाने का प्रयास करें। प्रत्येक व्यक्ति को कम से कम एक वृक्ष की जिम्मेदारी प्रदान करें। संपतिया उईके ने कहा कि रोपे गए वृक्षों की सुरक्षा भी सुनिश्चित करें।

Live Web           TV