खेती को लाभ धंधा बनाना ही सरकार का लक्ष्य- शिवराज सिंह चौहान

Scn news india

दिवाकर पांडेय 

खेती को लाभ धंधा बनाना ही सरकार का लक्ष्य- शिवराज सिंह चौहान
प्रदेश के 82 लाख किसान परिवारों को 1700 करोड़ रुपये की राशि वितरित
जिला पंचायत में हुआ जिला स्तरीय कार्यक्रम
———
सतना 18 मई 2022/मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि खेती को लाभ का धंधा बनाना ही सरकार का लक्ष्य है। क्षेत्र के विकास और किसान सहित जनता के कल्याण में सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान बुधवार को रीवा में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम से मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के तहत प्रदेश भर के 82 लाख से अधिक कृषक परिवारों को 1700 करोड़ की राशि के वितरण अवसर पर संबोधित कर रहे थे। उन्होंने सिंगल क्लिक के माध्यम से स्वामित्व योजना में 27 जिलों के आबादी भूमि के अधिकार अभिलेख भी वितरित किए।
राज्य स्तरीय कार्यक्रम का सीधा प्रसारण जिला, विकासखंड एवं ग्राम स्तर पर किसानों एवं आम ग्रामीणों द्वारा देखा गया। जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन जिला पंचायत के सभागार में किया गया। यहां प्राकृतिक खेती के संबंध में विभाग के अधिकारियों एवं किसानों का एक दिवसीय प्रशिक्षण भी संपन्न हुआ। जिला स्तरीय कार्यक्रम में कलेक्टर अनुराग वर्मा, सीईओ जिला पंचायत डॉ परीक्षित राव, अपर कलेक्टर एवं आयुक्त नगर निगम राजेश शाही, एसडीएम सिटी सुरेश जादव के अलाचा प्रदेश उपाध्यक्ष योगेश ताम्रकार, जिलाध्यक्ष नरेंद्र त्रिपाठी, किसान मोर्चा के कृष्णा पांडेय, उप संचालक कृषि केसी अहिरवार, उप संचालक उद्यानिकी एन.एस कुशवाह एवं अधीक्षक भू-अभिलेख आरएन पांडेय भी उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सिंगल क्लिक के माध्यम से मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के तहत प्रदेश भर के 82 लाख किसान परिवारों को वर्ष 2022-23 की प्रथम किस्त के रूप में 1700 करोड़ रुपये की राशि वितरित की। सतना जिले के 2 लाख 22 हजार किसानों के खाते में 48 करोड़ 7 लाख रुपये की राशि अंतरित की गई। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा किसानों को वर्ष भर में 6 हजार रुपये की सम्मान निधि दी जाती है और मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना में 4 हजार रुपये मिलाकर किसान को 10 हजार रुपये की निधि मिलती है। उन्होंने कहा छोटे किसानों के लिए यह राशि किसी वरदान से कम नहीं है। इस राशि से छोटे किसान अपनी खेती के लिए खाद, बीज, कृषि यंत्रों के उपयोग का प्रबंध कर लेते हैं।


जिला स्तरीय कार्यक्रम का शुभारंभ हलधर बलराम के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन से हुआ। इस मौके पर नरेंद्र त्रिपाठी ने कहा कि जब किसान खुशहाल होता है तो दुनिया भी खुशहाल रहती है। राज्य सरकार किसानों के कल्याण और खेती को लाभ का धंधा बनाने सतत प्रयासरत है। योगेश ताम्रकार ने कहा कि सतना जिले के 2 किसानों का पहली बार देश स्तर पर सम्मान हुआ है। उचेहरा विकासखंड के 200 से अधिक किस्मो के धान के बीज उगाने और संरक्षित करने पर बाबूलाल दाहिया पद्मश्री से सम्मानित हुए हैं। तो वहीं इसी ब्लॉक के रामलोटन कुशवाहा के कार्य प्रधानमंत्री के मन की बात कार्यक्रम से पूरी दुनिया तक पहुंचे। इस मौके पर प्रधानमंत्री पोषण शक्ति योजना के तहत प्रतीक स्वरूप 13 प्राथमिक शाला के छात्रों को 10-10 किलोग्राम और माध्यमिक शाला के 7 छात्रों को 15-17 किलोग्राम मूंग के थैले वितरित किए गए।