कांग्रेस ने पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव के बहाने पिछड़ा वर्ग समाज के अरमानों को कुचलने का प्रयास किया—संध्या राय

Scn news india

बड़ौनी से सतेन्द्र कुमार की रिपोर्ट

कांग्रेस ने पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव के बहाने पिछड़ा वर्ग समाज के अरमानों को कुचलने का प्रयास किया—संध्या राय

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष सांसद संध्या राय ने पत्रकार वार्ता में कहा पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को पिछड़ा वर्ग समाज से माफी मांगनी चाहिए, कांग्रेस ने हमेशा किया धोखा

 

दतिय। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश उपाध्यक्ष एवं भिंड दतिया लोकसभा सांसद श्रीमती संध्या राय ने कहा कि हमारी सरकार ने ओबीसी आरक्षण के साथ पंचायत चुनाव कराने के लिए ईमानदारी से प्रयास किए है। माननीय न्यायालय ने जो अंतरिम फैसला सुनाया है, हम विधि विशेषज्ञों के साथ उसका अध्ययन करायेंगे और आगे के कदम उठायेंगे। हम चाहते है कि पंचायत चुनाव ओबीसी आरक्षण के साथ संपन्न हो इसलिए ओबीसी आरक्षण के लिए मोडिफिकेशन में जायेंगे। यह बात उन्होंने दतिया सर्किट हाउस पर प्रिंट मीडिया एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से चर्चा करते हुए कही जिसमें भाजपा जिला अध्यक्ष सुरेंद्र बुधौलिया परशुराम शर्मा विशेष रूप से मौजूद थे l

भाजपा सांसद श्रीमती संध्या राय ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा ने कहा कि आरक्षण के मुद्दे पर पिछड़ा वर्ग समाज के साथ भारतीय जनता पार्टी संगठन और प्रदेश की शिवराज सरकार उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है l

उन्होंने पत्रकार वार्ता में कहा की कांग्रेस नेताओं से सवाल किया कि जब कांग्रेस सरकार में थी और पंचायत चुनाव कराने की जिम्मेदारी उनकी थी तब 27 प्रतिशत आरक्षण के लिए कांग्रेस सरकार ने ट्रिपल टेस्ट कराने के प्रयास क्यों नहीं किए ? कांग्रेस ने यह सब न करते हुए योजनाबद्ध तरीके से चुनाव में व्यवधान डालने का काम किया। कांग्रेस के नेता इस चुनाव को सुप्रीम कोर्ट तक ले गए। जिसके कारण आज यह स्थिति बनी है। उन्होंने कहा कि आज माननीय सर्वोच्च न्यायालय के अंतरिम आदेश से कांग्रेस के उन नेताओं के कलेजे को ठंडक तो मिली होगी, लेकिन भारतीय जनता पार्टी उनके षडयंत्र को फलीभूत नहीं होने देगी।

सांसद श्रीमती राय ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के मूलमंत्र पर काम करती है। ओबीसी समाज को उसके राजनैतिक अधिकार मिले इस दिशा में भाजपा सरकार प्रतिबद्ध है।

उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस ओबीसी आरक्षण को लेकर घडियालें आंसू बहा रही है, उस समय यह कांग्रेस कहां थी ? जब पंचायत चुनाव की घोषणा हो गयी थी तब उसने व्यवधान डालने की कांग्रेस को क्या जरूरत पडी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नहीं चाहती कि पिछड़ा वर्ग और अन्य पीछे रह गए समाजों को राजनैतिक और आर्थिक बराबरी का अधिकार मिले। और इसके लिए कांग्रेस ने हमेशा इस वर्ग के साथ धोखा किया।

सांसद श्रीमती राय ने कहा कि कांग्रेस की जालसाजी का इससे बड़ा उदाहरण क्या हो सकता है कि जब उनकी सरकार अपने विधेयक में मध्यप्रदेश के पिछड़ा वर्ग की जनसंख्या 27 प्रतिशत बताती है, जबकि राज्य में पिछड़ा वर्ग की जनसंख्या 51 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि जिस कांग्रेस पार्टी की सरकार विधेयक में धोखा दे सकती है उससे किसी भी प्रकार की इंसाफ की बात करना बेमानी है। अपनी इस नियत के कारण कांग्रेस ने पंचायत चुनाव के बहाने पिछड़ा वर्ग के अरमानों को कुचलने का प्रयास किया है।

सांसद श्रीमती राय ने पत्रकार वार्ता मेंकहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को जवाब देना चाहिए कि 8 मार्च 2019 को 14 से 27 प्रतिशत आरक्षण लागू करने के तत्कालीन सरकार फैसले पर जब 10 मार्च को याचिका लगी तब 10 से 19 मार्च तक उनकी सरकार ने कोर्ट में अपना एडवोकेट जनरल तक खड़ा क्यों नहीं किया? उच्च न्यायालय द्वारा आरक्षण पर रोक लगाने के खिलाफ कांग्रेस की सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में अपील तक नहीं की। इस धोखे के लिए कांग्रेस और कमलनाथ को प्रदेश में ओबीसी वर्ग से माफी भी वर्ग का भला नहीं सोचा है। सांसद श्री मति राय ने कहा कि कांग्रेस भ्रष्टाचारी, लूटपाट करने वालों की पार्टी रही है। इसने कभी भी किसी भी वर्ग का भला नहीं सोचा है मात्र अपने राजनीतिक राजनीतिक वोट प्राप्त करने का षड्यंत्र अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति दलित और शोषित वर्ग तथा पिछड़ा वर्ग समाज को झूठा बोल कर रचती आ रही और उनके विकास की चिंता नहीं की यही कांग्रेस और कमलनाथ का आयाम है की फूट डालो और राजनीति करो और आदिवासियों को भी उन्होंने विकास के नाम पर झूठ बोलकर हे भ्रमित करने का प्रयास किया l

सांसद श्रीमती राय ने कहा की कांग्रेस दलित शोषित और पिछड़ों हितैषी बनने की बात करती है तो लोकसभा सदन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रिमंडल के मंत्रियों का परिचय समाज से जुड़े लोगों परिचय करा रहे थे तो उसमें विरोध कर समाज जुड़े सांसदों का अपमान किया और उनका परिचय तक नहीं होने दिया फिर यह कैसी हितैषी बन सकती है l आज कांग्रेस आज कांग्रेसी ओबीसी भारत राजनीति करने का प्रयास कर समाज को भ्रमित करने का कार्य करें l उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने भी स्पष्ट कर दिया है की पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव ओबीसी आरक्षण के साथ होंगे ताकि वह अपनी संस्थाओं में बैठकर क्षेत्र का नेतृत्व कर सके l उहोंने ने कहा की ओबीसी समाज किसी भी कांग्रेस के झूठे बेर खाने में नहीं आए और वह हमेशा झूठ छल-कपट की राजनीत कर आपके वोट पर फूट डालो राज करो की नीति अपनाती है न्याय समाज को अवश्य मिलेगा और भारतीय जनता पार्टी की सरकार और भाजपा संगठन की मंशा है की आपको नगरीय निकाय संस्थाओं से लेकर जिला पंचायत के विभिन्न संस्थाओं पर आपके समाज के लोग चुनाव जीतकर आए और आगे आकर वह नेतृत्व करें l

भाजपा सांसद श्रीमती संध्या रानी पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि भाजपा ने मध्यप्रदेश में पिछड़ा वर्ग समाज को पूर्व सम्मान देते हुए 2004 से लगातार तीन अन्य पिछड़े वर्ग के मुख्यमंत्री के रूप में दिए हैं और मंत्रिमंडल में भी महत्वपूर्ण स्थान समाज को दिया गया l

श्रीमती राय ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार के कई से ओबीसी आरक्षण की प्रतिबद्धता
का प्रमाण मिलता है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार में ओबीसी को केंद्रीय सूची का दर्जा बढ़ाकर इस सूची को संवैधानिक दर्जा किया और इसमें पेपर परिवर्तन के लिए सांसदों की शक्ति को भी बढ़ाया गया संविधान संशोधन अधिनियम 2018 राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देकर समाज को गौरवान्वित करने का काम किया है l

इस अवसर पर लवकुश गुर्जर प्रशांत ढेंगुला लक्ष्मीकांत खरें पंकज गुप्ता रामलखन गुर्जर रघुवीर कुशवाहा परशुराम अहिरवार रमाकांत मिश्रा सुरेंद्र बघेल दीपक सोनी मुख्य रूप से उपस्थित थे