जन प्रतिनिधियों की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे ग्रामीण

Scn news india

ओमकार पटेल तहसील ब्यूरो बिछिया

मंडला – बिछिया जनपद क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत झिगराघाट के पोषक ग्राम खामटीपुर में लगातार एक माह से ग्रामीण  पीने के पानी को तरस रहे है , देखा जाए तो झिगराघाट के कुछ पंचायत प्रतिनिधि पोषक ग्रामों को पंचायत से अलग समझने की रणनीति बनाकर बैठे हैं।  झिगराघाट में हर एक दिन बाद भरपूर पानी दिया जाता है ,वहीं पोषक ग्राम खामटीपुर में एक एक सप्ताह पानी देने में पंचायत कर्मी सुखलाल यादव के द्वारा बोला जाता है।

,जैसा सरपंच, सचिव कहते हैं मैं वही करता हूं ,मुझे पहले झिगराघाट पानी देने को कहा गया है, वैसे भी लाईट तीन फेस नहीं रहती जब तीन फेस लाईट रहती है तो मैं पहले झिगराघाट पानी देता हूं, इतना ही नहीं लगातार देखी जा रही पंचायत कर्मियों की अनिमित्ताए सुलभ काम्प्लेक्स बनाया गया सुरपन नदी के किनारे ,जो बनाया जाना था दोनों ग्रामों के बीच में , जहां पर प्राथमिक शाला एवं माध्यमिक शालांए हैं ,

सड़क जीर्णोद्धार , खेरमाई माता मंच जीर्णोद्धार, कूडादान भी बनाए गए छै झिगराघाट में पोषक ग्रामों में एक भी नहीं, मनमाने ढंग से शासन की राशि का किया गया बंदरबांट, इस तरह जिम्मेदार पंचायत प्रतिनिधियों ने अपना रवैया बना कर बांट दिया पंचायत को ,फिर भी बड़े बड़े चंद राजनेताओ ने आंख में पट्टी बांध कर  गांधारी का स्थान ले लिया  है। जो केवल अपना नाम ओर दिखावे के लिए  राजनीति की पूंछ पकड़ी है।