मंडला पुलिस ने गुडा अंजनिया में हुई अंधी हत्या का 12 घंटे में किया खुलासा

Scn news india

योगेश चौरसिया जिला ब्यरो

राजकुमार पिता श्री बुधराम उईके उम्र 47 वर्ष निवासी गुडा अंजनिया द्वारा जरिये मोबाईल के पुलिस चौकी हिरदेनगर को सूचना दिया गया कि इसके छोटे भाई राजेंद्र प्रसाद उईके का शव गुडा अंजनिया कालोनी पहाड़ी के जंगल में छिवला पेड़ के नीचे पत्थर से ढंका हुआ है । प्राप्‍त सूचना से तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को घटना के सम्बंध में अवगत कराया गया तथा मौके की कार्यवाही हेतु मय विवेचना किट हमराह स्टाफ के घटना स्थल ग्राम गुड़ा अंजनिया पहुंचा एवं वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन पर कार्यवाही की जाकर प्रथम दृष्टया मामला हत्या का पाये जाने से अज्ञात आरोपी विरूद्ध अपराध क्रमांक 236/2022 धारा 302,201 भा.द.वि. का पंजीबद्ध किया गया ।

मामले का खुलाशा/टीम का गठन- प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक मण्डला श्री यशपाल सिंह राजपुत द्वारा अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) मण्डला एवं चौकी प्रभारी हिरदेनगर उनि कामेश धुमकेती को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए जल्द से जल्द इस अंधेकत्ल का खुलासा कर आरोपी को गिरफ्तार करने के लिये निर्देशित किया गया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मण्डला के निर्देशन में अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) मण्डला श्री अश्वनी कुमार के द्वारा अलग अलग टीम का गठन कर साक्ष्‍य एकञ किये गये। विवेचना के दौरान पुलिस टीम को जानकारी मिली कि दिनांक 03.05.2022 को मृतक राजेंद्र उईके एवं उसके भाई राजकुमार उईके द्वारा गांव के अजीत कुमार के पिता घनश्याम कुशराम के साथ उसकी लड़की की शादी के समय मारपीट की गई थी ।

विवेचना के दौरान आये तथ्‍यों एवं संदेह के आधार पर अजीत कुमार एवं उसके पिता घनश्याम कुशराम को अभिरक्षा में लेकर बारीकी से पूछताछ करने पर अजीत कुमार द्वारा अपने अन्‍य दो साथियों के साथ मिलकर राजेंद्र उईके की हत्‍या एवं मृतक की लाश को छुपाना स्‍वीकार किया गया। आरोपी अजीत कुमार द्वारा जुल्‍म स्‍वीकार करते हुए बताया की दिनांक 08.05.2022 के रात करीब 10.00 बजे अपने 02 अन्‍य साथी सुमित कुमार पिता शैल कुमार मरकाम उम्र 23 वर्ष एवं दीपक उर्फ वीरेंद्र मरावी पिता मोहन लाल मरावी उम्र 25 वर्ष सभी निवासी ग्राम गुडा अंजनिया के साथ मिलकर राजेंद्र की हत्या करने की योजना बनाकर आरोपी अजीत के द्वारा अपने साथी आरोपी दीपक मरावी को पैसे देकर मृतक राजेंद्र प्रसाद उईके को शराब पिलाने का बहाना करके रामकृपाल बैगा के घर के सामने सी. सी. रोड पर लाकर दीपक व सुमित ने लात, हाथ मुक्का एवं अजीत ने अपने साथ लिये लाठी से मार – मार कर हत्या कर राजेंद्र की लाश को उठाकर गुड़ा अंजनिया कालोनी पहाड़ के ऊपर पेड़ के नीचे लाश को पत्थरों से ढक कर छुपा दिया था। मामले में धारा 34 ताहि का इजाफा किया गया । ” आरोपी अजीत कुशराम से घटना में प्रयुक्त लाठी, घटना दिनांक को पहने हुऐ कपड़े जप्त किया जाकर उक्त तीनों आरोपियों को आज दिनांक 12.05.2022 को गिरफ्तार किया गया है । जिन्हें माननीय न्यायालय पेश किया गया है ।

महत्‍वपूर्ण भूमिका- उक्त अंधी हत्या के खुलासे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मण्डला श्री गजेंद्र सिंह कंवर एवं अनुविभागीय अधिकारी ( पुलिस ) मण्डला श्री अश्वनी कुमार के मार्गदर्शन में महिला सेल प्रभारी निरीक्षक ममता परस्‍ते, उप निरीक्षक कामेश धूमकेती चौकी प्रभारी हिरदेनगर, उप निरीक्षक जसवंत सिंह राजपूत चौकी प्रभारी अंजनिया , उप निरीक्षक जगदीश कुमार पंद्रो, थाना महाराजपुर, सउनि सुरेश कुमार विजयवार, का . सउनि . रामकृष्ण बघेल, प्रआर. अवधेश तिवारी, प्र.आर. महेश यादव, विपत लाल भलावी ,आरक्षक लाल उईके , मानसिंह परस्ते , विवेक दुबे , संतलाल, लक्ष्मी प्रसाद तेकाम , म आर पुष्पलता मरकाम , लीना चौधरी , सैनिक अशोक जंघेला ,रामनाथ जंघेला एवं सायबर सेल मंडला से सुरेश भटेरे, सूर्यचंद बघेले, पुनित जंघेला, मआर रश्मि की महत्वपूर्ण भूमिका रही ।