अवैध कॉलोनियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज न कराने वाले जेडओ पर एफआईआर

Scn news india

मनोहर

ग्वालियर -नगर निगम के ऐसे सभी जेडओ (क्षेत्रीय अधिकारी) एवं भवन निरीक्षकों को भू-माफियाओं का मददगार मानकर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाए, जो अवैध कॉलोनी काटने वाले कॉलोनाइजर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने में आनाकानी कर उनकी अप्रत्यक्ष रूप से मदद कर रहे हैं। इस आशय के निर्देश कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने अंतरविभागीय समन्वय बैठक में जिले के सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारियों को दिए। उन्होंने जोर देकर कहा कि अवैध निर्माण ध्वसत करना ही पर्याप्त नहीं है, अवैध कॉलोनी विकसित करने वाले कॉलोनाइजर के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जाए।

सोमवार को यहाँ कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित हुई बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने एंटी माफिया अभियान को और गति देने के निर्देश सभी एसडीएम को दिए। उन्होंने कहा कि जो भू-माफिया छुपने के लिये शहर छोड़कर बाहर चले गए हैं, उनकी परिसम्पत्तियाँ विधिवत जब्त करें। कलेक्टर ने कहा माफियाओं के खिलाफ इतनी कठोर कार्रवाई हो, जिससे कोई और इस प्रकार के अवैध धंधे करने की जुर्रत न कर सके। उन्होंने एंटी माफिया अभियान के तहत अनुविभागबार हुई कार्रवाई की विस्तार से समीक्षा की।

बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री आशीष तिवारी एवं अपर जिला दण्डाधिकारी एच बी शर्मा सहित विभिन्न विभागो के जिला स्तरीय अधिकारी एवं जिले के अनुविभागीय दण्डाधिकारी मौजूद थे।

शहर के फुटपाथों व सड़कों पर अनाधिकृत हाथ ठेले खड़े न होने दें   

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बैठक में मौजूद नगर निगम के उप आयुक्त को निर्देश दिए कि शहर के मुख्य मार्गों की सड़कों व फुटपाथ पर हाथ ठेला व फड़ लगाने की प्रवृत्ति को रोका जाए। उन्होंने कहा हाथ ठेलों को संवेदनशीलता के साथ दूसरी जगह व्यवस्थित कराएँ, जिससे उनका व्यापार प्रभावित न हो। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि बाजार बैठकी की रसीद उन्हीं बाजारों के लिये काटी जाए जो फड़ लगाकर या हाथ ठेला से व्यापार करने के लिये अधिकृत हैं।

ई-ऑफिस प्रणाली से ही भेजी जाएँ फायलें

अंतरविभागीय समन्वय बैठक में कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि अब ई-ऑफिस प्रणाली के तहत ही विभागीय फायलें कलेक्ट्रेट भेजें। आगामी एक जून से मैन्युअल फायलें स्वीकार नहीं की जायेंगीं।

सीएम हैल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण में और तेजी लाने पर जोर

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सीएम हैल्पलान की शिकायतों के निराकरण में और तेजी लाने पर विशेष बल दिया। उन्होंने कहा जिन विभागों के अधिकारी निराकरण में ढ़िलाई बरतेंगे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

फर्जी तरीके से छात्रवृत्ति निकालने वाले महाविद्यालयों पर एफआईआर कराएँ

समीक्षा के दौरान कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सहायक आयुक्त जनजाति कल्याण विभाग को निर्देश दिए कि जिन महाविद्यालयों व स्कूलों के बारे में फर्जी तरीके से छात्रवृत्ति निकालने की शिकायतें आई हैं, उनकी बारीकी से जाँच करें। साथ ही दोषी महाविद्यालयों के संचालकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाए।

इन विषयों की भी हुई समीक्षा

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना, लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से बीपीएल सूची संबंधी प्रकरणों का निराकरण, सीएम राईज स्कूल व शासकीय प्रयोजन के लिये जमीन आवंटन सहित सरकार की प्राथमिकता वाले अन्य कार्यक्रमों की भी बैठक में समीक्षा की गई।