ग्राम पंचायत में हो रही है गाजर घास की खेती

Scn news india

देवेंद्र बारस्कर महदगांव

जिला मुख्यालय से 7 किलोमीटर दूर बसे ग्राम महदगांव में पंचायत स्वस्थ भारत मिशन एवं भारत स्वच्छता अभियान को ले कर कितना गंभीर है इसकी बानगी देखते बनती है। ग्राम में स्वच्छता की हालत क्या होगी ये पंचायत भवन परिसर को देख सहज अंदाजा लगाया जा सकता है जहाँ सौंदर्यीकरण हेतु लाखों रूपये खर्च कर पुरे परिसर में पेविंग ब्लॉक लगाए गए है। लेकिन इसके  रखरखाव में पंचायत गंभीर नहीं है। पुरे परिसर में गाज़र घास उग आई है। या यों  कहे की पंचायत ने गाजर घास की खेती शुरू कर दी है।

संपूर्ण देश में ग्राम पंचायत स्तर पर  स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है और ग्राम महत गांव की ग्राम पंचायत का यह आंधी पूरा पंचायत प्रांगण में गाजर घास उग आई है पंचायत के सारे कर्मचारी रोज पंचायत आते हैं लेकिन उन्हें प्रांगण में फैली गंदगी नहीं दिख रही। वह सिर्फ नाम मात्र के लिए पंचायत आते हैं पंचायत प्रांगण में फैली गंदगी का असर सारे ग्राम में देखने को मिल सकता है। जब पंचायत में ही यह हाल है तो सारे ग्राम में क्या हाल होगा इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। ग्राम की सारी नालियों की  कभी सफाई नहीं होती।  जिसके कारण मच्छरों का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है लेकिन ग्राम पंचायत इस पर कोई कार्यवाही नहीं कर पा रही है।

लगता ग्राम पंचायत के सरपंच और सचिव सिर्फ अपनी जेब भरने में लगे है ,उन्हें ग्राम की जनता से कोई लेना-देना नहीं है।बैतूल  इंदौर नेशनल हाईवे पर बसे ग्राम महदगांव के यह हाल है अब तो सड़क से दूर बसे ग्रामों के क्या हाल होंगे। यह सोचनीय विषय है। नाम न छापने की शर्त पर कुछ ग्रामीणों ने बताया कि गांव में कभी साफ सफाई होती ही नहीं। नगर पंचायत के कर्मचारी की शिकायत कर  दी जाए तो वह दुश्मनी का भाव रखते हैं और फिर कभी कोई काम पंचायत से पड़ जाए तो वहां नहीं करते हैं। इसीलिए कोई भी ग्रामीण पंचायत की कोई शिकायत नहीं करता। कुल मिला कर देखा जाय तो ग्रामीण त्रस्त है।