सेवा के साथ भी,सेवा के बाद भी स्मृति चिन्ह एवं अभिनंदन पत्र से सम्मानित हुए कार्मिक

Scn news india

प्रवीण सोनी 

सारनी। कार्मिकों के आश्रित परिवार को आर्थिक सहायता देने के लिए जिस पवित्र उद्देश्य से स्व सुरक्षा निधी समिति की स्थापना की गई थी, समिति अपने स्थापना काल से कुशल नेतृत्व के कारण पारदर्शिता के साथ कार्य कर रही है।अब सेवा के साथ भी,सेवा के बाद भी यह समिति का ध्येय वाक्य होगा,यह विचार सतपुड़ा ताप विद्युत गृह के मुख्य अभियंता एवं स्व सुरक्षा निधी समिति के अध्यक्ष आर के गुप्ता ने सेवा निवृत्त कर्मचारी अधिकारी को संबोधित करते हुए कही। कार्यक्रम के प्रारंभ में सरस्वती पूजन कर दीप प्रज्जवलित मुख्य अभियंता आर के गुप्ता, गुरुनाथ श्रीनिवास अतिरिक्त मुख्य अभियंता,शैलेन्द्र वागदरे अधीक्षण अभियंता सिविल,डी के गौतम सहायक अभियंता सिविल सेवा निवृत्त,निर्मल कुमार शुक्ला कार्यपालन अभियंता प्रभारी सेवा निवृत्त प्रवर्तन दो ने किया। मंचासीन अतिथियो के साथ ही सेवा निवृत्त कार्मिकों का समिति के सचिव अंबादास सूने पुष्प गुच्छ द्वारा स्वागत किया गया । इस अवसर पर मुख्य अभियंता आर के गुप्ता ने सेवा निवृत्त अधिकारी कर्मचारीयो एवं उनके परिवार के सुखमय जीवन की कामना करते हुए अनुरोध किया कि 45 वर्ष पूर्व की तुलना में आज हम आर्थिक रूप से समर्थ हैं ।सेवा निवृत्त कार्मिकों द्वारा सेवा निवृत्ति के बाद प्राप्त सहयोग राशि समिति को अनुदान स्वरूप वापस देते हैं तो हम हमारे कार्मिकों के आश्रित परिवार को आर्थिक सहायता देने मे पूर्ण सहयोग कर सकते हैं । समिति के सचिव अंबादास सूने ने बताया कि डी के गौतम,कृष्णा डोंगरी,हाडू छोटे, बृज सागर सभी सिविल डिवीजन एक से सेवानिवृत्त हुए हैं, सभी ने समिति को पुनः सहयोग किया है,इसलिए् विशेष रूप से अभिनन्दन पत्र से भी सम्मानित किया गया।समिति के सचिव अंबादास सूने ने बताया कि कंपनी केडर के नियमित कर्मचारी अधिकारी भी समिति के सदस्य बन रहे हैं , समिति का कार्य क्षेत्र सभी ताप विद्युत गृहों मे विस्तार किया जा रहा है। सभी सेवा निवृत्त कार्मिकों को स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया।एम आर वराठे,काशीनाथ देशमुख, भीमराव गजभिये,जुगल कुमार घरामी,गुलाब इनवाती,बाबुराव सराटकर, रघुनाथ वागदरे,रामहेत नागोरे,किसना बिलगैया,प्रमोद कुमार जैन,वैधनाथ धनराज को सम्मानित किया । इस मौके पर योगेन्द्र ठाकुर समिति के सह- सचिव ,विजय सिन्दूर,दयानिधी,गोपी सिन्दूर,रामरतन,थबीराम डोंगरी एवं अनेक सदस्य उपस्थित थे।कार्यक्रम का संचालन गोपाल अरोरा ने किया ।