राज्यपाल ने दो दिवसीय आदि उत्सव का किया शुभारंभ

Scn news india

योगेश चौरसिया जिला ब्यूरो मंडला

मंडला के रामनगर में आयोजित आदि उत्सव का शुभारंभ करते हुए प्रदेश के महामहिम राज्यपाल मंगू भाई पटैल ने उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि आदिवासी समाज के बीच मे निरंतर प्रदेश में जा रहा हूँ आज जनजाति संस्कृति के प्रति आत्मीयता, मातृभूमि की रक्षा करने वाले जनजाति समाज के महापुरषों गौरव गान करने के पर्व आदि उत्सव में आकर मुझे आत्मीय खुशी हुई। उन्होंने राजा शंकर शाह कुंवर रघुनाथ शाह वीरांगना रानी दुर्गावती को याद करते हुए कहा की मंडला रामनगर की पावन भूमि हमें हमेशा प्रेरणा देती रहेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न केवल आदिवासियों की जमीन से जुड़ी समस्याओं को समाधान करने का ऐतिहासिक कार्य किया है बल्कि जनजातियों की संस्कृति प्राचीन विरासत को संरक्षित व समृद्ध बनाने का प्रयास किया है।

उन्होंने कहा दीक्षांत समारोह में ज्यादा से ज्यादा बेटियों को डिग्रियां लेते हुए जब मैं देखता हूँ तो ह्रदय से प्रसन्नता होती है। इसलिए आदिवासी समाज की बेटियों को आगे पढ़ाने का संकल्प यहाँ से लेकर जाना है, यह हमारी पहली जिम्मेदारी है। उन्होंने सिकल सेल जैसी गंभीर बीमारी से बचने समझने और उससे होने वाली कठनाइयों को गंभीरता से समझने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा फग्गनसिंह कुलस्ते एवं अर्जुन मुंडा निरन्तर जनजाति समाज के हित मे कार्य कर रहे हैं। ईश्वर उन्हें इतनी शक्ति दे ताकि देश का वनवासी समाज दूसरे अन्य समाज की तरह आगे बढ़ता रहे।

उन्होंने मप्र एवं केंद्र की मोदी सरकार द्वारा किये जा रहे जनजाति समाज के हित में लिए गए निर्णय और कार्यों का उल्लेख किया। आजादी के अमृत महोत्सव में परांपरानुसार आदि उत्सव के दो दिवसीय आयोजन का शुभारंभ अवसर में केंद्रीय जनजाति मंत्री अर्जुन मुंडा, केंद्रीय इस्पात एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री फग्गनसिंह कुलस्ते ने किया। इस दौरान प्रदेश की जनजाति कल्याण मंत्री मीना सिंह, खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री बेसाहू लाल सिंह, पशुपालन मंत्री प्रेम सिंह पटैल, राज्यसभा सांसद संपतिया उइके सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।