जिले में गठित एफपीओ को बेहतर मार्गदर्शन एवं हैंड-होल्डिंग दी जाए- कलेक्टर

Scn news india

राजेश साबले जिला ब्यूरो 
बैतूल-कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस ने बुधवार को जिले में नाफेड द्वारा गठित एफपीओ की बैठक लेकर उनको कृषि विभाग एवं कृषि विज्ञान केन्द्र से बेहतर मार्गदर्शन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।
बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिले में क्या बेहतर उत्पादन किया जा सकता है, इसके लिए एफपीओ से जुड़े किसानों को कृषि विभाग एवं कृषि विज्ञान केन्द्र सतत मार्गदर्शन प्रदान करे। एफपीओ से जुड़े किसानों को केवल अनाज की फसलों तक सीमित न रखकर उन्हें गन्ना, फल, सब्जी, दलहन एवं तिलहन संबंधी उत्पादों से जोडऩे के लिए भी प्रयास किए जाएं। आठनेर क्षेत्र में संतरा की फसल कमजोर होने की जानकारी वहां के एफपीओ द्वारा दिए जाने पर उप संचालक कृषि को निर्देश दिए गए कि महाराष्ट्र के अमरावती जिले से टेक्निकल टीम बुलाकर आवश्यक परीक्षण कराया जाए। साथ ही कहां पर संतरा की फसल उपयुक्त हो सकती है, उसके लिए जलवायु का परीक्षण करें। कलेक्टर ने जिले में गन्ना, मक्का जैसी फसलों के उत्पादन पर जोर देते हुए कहा कि इन उत्पादों को भी बढ़ावा देने की जिले में प्रबल संभावनाएं हैं। उन्होंने मुलताई क्षेत्र में सब्जी एवं दूध के लिए कार्य करने की भी आवश्यकता जताई।
बैठक में एफपीओ के किसानों द्वारा गन्ना/मक्का की हार्वेस्टिंग एवं कस्टम हायरिंग पर सब्सिडी बढ़ाने की मांग की गई। इस अवसर पर कलेक्टर ने किसानों से नरवाई नहीं जलाने एवं स्ट्रा रीपर का उपयोग करने पर भी सहमति ली। बैठक में जिले में गठित अन्य एफपीओ से भी उनकी समस्याओं पर चर्चा की गई।