MP का मौसम फिर बदला, पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय, 13 जिलों में बूंदाबांदी के आसार, लू का भी अलर्ट

Scn news india
मनोहर
मौसम विभाग द्वारा  1 मई के लिए की गई भविष्यवाणी सही रही कई इलाको में हुई बारिश ,बता दे कि  जम्मू कश्मीर में नया पश्चिमी विक्षोभ आ रहा है, जिसके चलते 1 से 4 मई के बीच हल्की बारिश और आंधी के भी आसार है।
भोपाल। MP Weather Update Today 1 May 2022.मध्य प्रदेश में एक बार फिर मौसम बदल गया है। आज रविवार को कई जिलों में लू तो कई जिलों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना जताई गई है। एमपी मौसम विभाग (MP Weather Department) ने आज रविवार 1 मई को 13 जिलों में गरज चमक के साथ बौछार तो 13 जिलों में लू का येलो अलर्ट जारी किया है। वही 18-20 किमी/घंटा की रफ्तार से हवा चल सकती है।इधर, आज नए पश्चिमी विक्षोभ के एक्टिव होने से 3-4 मई को ग्वालियर चंबल में बारिश के साथ आंधी की संभावना है।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, आज रविवार 1 मई 2022 को 13 जिलों में गरज चमक के साथ बौछार की चेतावनी और 13 जिलों में ही लू का येलो अलर्ट जारी किया गया है ।ग्वालियर चंबल संभाग के जिलों के साथ विदिशा, सागर, दमोह, रायसेन और देवास जिले में गरज चमक के साथ हल्की बारिश के आसार है। वही ग्वालियर-चंबल संभाग के जिलों के साथ विदिशा, सागर, दमोह, रायसेन और देवास में लू का येलो अलर्ट जारी किया गया है।पिछले 24 घंटे में सबसे अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस खजुराहो, नौगांव, दतिया, ग्वालियर और सीधी में दर्ज किया गया।वही दतिया, खजुराहो और नौगांव में लू का असर रहा।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, आज रविवार रात को एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत को प्रभावित करने की संभावना है, जिसके कारण अभी तीन-चार दिन तक दिन के तापमान में गिरावट जारी रहेगा।वही आज 1 मई को जम्मू कश्मीर में नया पश्चिमी विक्षोभ आ रहा है, जिसके चलते 1 से 4 मई के बीच हल्की बारिश और आंधी के भी आसार है। वही 25 मई से नौतपा शुरू होगा और लू चलेगी।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर पर सक्रिय है, जिसके कारण तापमान में गिरावट आई है और पूरे मध्य प्रदेश में भीषण गर्मी से कुछ राहत मिलने लगी है। आज रविवार रात को भी एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत को प्रभावित करने की संभावना है, जिसके चलते अभी तीन-चार दिन तक दिन के तापमान में गिरावट के आसार है और कहीं कहीं बूंदाबांदी और आंधी भी चल सकती है।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, उत्तर भारत में रविवार को एक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से सोमवार 2 मई के बाद तापमान में हल्की गिरावट के साथ बादल छाएंगे और इंदौर में बूंदाबांदी भी हो सकती है। प्रशांत महासागर में ला नीना के असर के कारण इस बार इंदौर में तापामान सामान्य से दो से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक रहेगा। इंदौर में 20 मई के आसपास अधिकतम तापमान 45 डिग्री तक पहुंचने की संभावना है।वही पश्चिमी विक्षोभ के जाने के बाद राजस्थान की गर्म हवा से भीषण गर्मी बढ़ेगी और दूसरे- तीसरे हफ्ते में लू का असर फिर दिखाई देगा।