प्रत्येक पंजीकृत कृषक की धान की खरीदी की अंतिम दिनांक तक की जायेगी, किसान भाई निष्चिंत रहें – गौरव पटेल

Scn news india

स्वामी सींग गौड दमोह

समर्थन मूल्य पर शासन द्वारा निर्धारित मापदण्ड अनुसार दमोह जिले में धान की खरीदी की उपार्जन नीति अनुरूप की जा रही है । कुछ उपार्जन केन्द्रों में निर्धारित मापदण्ड के अनुसार धान न आने पर कृषकों द्वारा पुनः सफाई कर धान जमा की गई है जिसे केन्द्रों द्वारा खरीदा जा रहा है, जिले में ऐसा कोई भी किसान नहीं है जिसकी धान मानक गुणवत्ता की हो और न उसे खरीदा न गया हो । कृषकों को भ्रमित होने की आवष्यकता नहीं है । कमलनाथ सरकार कृषक हितैषी है एवं किसानों के साथ सुख-दुख में हमेंषा साथ खड़ी है, जय किसान फसल ऋण माफी योजना के द्वितीय चरण की सम्पूर्ण तैयारी हो चुकी है जिसमें 100000/- रू. तक के ऋण वाले कृषकों को लिया गया है, जल्द ही किसानों के खातों में ऋण माफी का पैसा पहुँच जायेगा । धान उपार्जन की अंतिम दिनांक 20/01/2020 तक निर्धारित की गई है उक्त दिनांक तक उपार्जन केन्द्रों पर पंजीकृत कृषकों द्वारा लाई गई सम्पूर्ण मानक मात्रा को क्रय करने हेतु शासन वचनबद्ध है । उक्ताषय की जानकारी जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित दमोह के प्रषासक श्री गौरव पटैल द्वारा दी गई साथ ही विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुये श्री षिवराज सिंह चैहान, पूर्व मुख्यमंत्री के द्वारा झलौन उपार्जन केन्द्र में आन्दोलन कर चक्काजाम करने के संबंध में बतलाया गया कि जब श्री चैहान उपार्जन केन्द्र पर गये थे उस दिन शनिवार होने के कारण खरीदी बंद थी, श्री चैहान पूर्व में मुख्यमंत्री रह चुके हैं इन्हें यह भी नहीं पता कि सप्ताह में 5 दिन खरीदी की जाती है तथा शनिवार एवं रविवार को खरीदी का अवकाष रहता है, उक्त दिनों में उपार्जन केन्द्रों द्वारा परिवहन, भुगतान आदि कार्य सम्पादित कराये जाते हैं । अनाज खरीदी के मापदण्ड थ्ब्प् जो केन्द्र सरकार की एजेंसी है उसके द्वारा तय किये जाते हैं, और केन्द्र सरकार की एजेंसी के सर्वेयर ही दमोह आकर किसानों का माल अमानक बता रहे हैं, सेंपिल फेल कर रहे हैं और दमोह से संकलित 57 नमूनों में से 53 नमूने उन्होंने फेल कर दिये और श्री षिवराज जी यहां आकर किसान हितैषी बनने का झूठा ढोंग कर रहे हैं, यदि वास्तव में किसान हितैषी हैं तो केन्द्र सरकार से थ्।फ में कुछ छूट दिलवायें क्योंकि राज्य सरकार धान खरीदी में केवल मध्यस्थता करती है खरीदती केन्द्र सरकार है । जहां तक श्री चैहान द्वारा कृषकों के प्रति गोली खाने की बात कही गई है तो कृषकों पर गोली चलवाने वाली भाजपा कब से कृषकों के प्रति खुद गोली खाने लगे । इनको यह ज्ञात नहीं कि हमारे जिले के कृषक जागरूक हैं वह आपकी गतिविधियों से भलीभांति परिचित हैं । कृषकों से मेरी एक ही अपील है कि शांति बनायें रखें, किसी के भ्रामक प्रचार में न आयें प्रत्येक पंजीकृत कृषक की धान की खरीदी की अंतिम दिनांक तक की जायेगी, कृषक भाई निष्चिंत रहें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.