जिला प्रशासन का नया कारनामा – अपराधी के घर की जगह पर तोड़ दिया रिश्तेदार बुजुर्ग महिला का घर

Scn news india

  • बुल्डोजर कार्यवाही के नाम पर कटनी जिला प्रशासन ने किया नया कारनामा , 
  • फिर बटोरी सुर्खियां , अपराधी के घर की जगह पर तोड़ दिया रिश्तेदार बुजुर्ग महिला का घर

कटनी ॥ कटनी जिला प्रशासन किसी न किसी मामले में अपनी सुर्खियां बटोरता रहता है फिर चाहे वह पुलिस की कार्यप्रणाली हो या किसी अधिकारी के कार्य करने का तरीका इस बार जिला प्रशासन ने फिर एक कारनामा कर दिखाया है जो वाकई में काबिले तारीफ कहे या फिर कुछ और ?
देश में इन दिनों बुलडोजर पर राजनीति लगातार गरमा रही है। पहले जहां यूपी में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कई मामलों में बुलडोजर से काम लिया। वहीं मध्यप्रदेश सरकार की ओर से भी बुलडोजर द्वारा की जा रही कार्रवाई के चलते कटनी जिले में भी बुलडोजर करवाई जोरों पर है। पर यह कार्यवाई प्रशासन ने नगर निगम के अधिकारियों कर्मचारियों के साथ मिलकर एक अपराधी के घर पर नही बल्कि अपराधी के रिश्तेदार एक बुजुर्ग महिला के घर पर बुलडोजर चलाकर सरकार की करवाई पर अपनी पीठ थपथपाती नजर आई , जो की शायद कार्यप्रणाली के आधार पर न्याय संगत नही है । कार्यवाई के दौरान जिस बुजुर्ग महिला के घर पर बुल्डोजर चलाया गया वह पीड़ित बुजुर्ग महिला तहसीलदार के पैर में रोती बिलखती हुई गिड़गिड़ती रही और जमीन के कागज पर किसका मालिकाना हक है यह भी दिखाती रही परन्तु प्रशासन करवाई के नाम पर अंधी और गुगी बहरी बनी रही । बुल्डोजर कार्यवाही के दौरान जब मीडिया ने सवालों के जवाब मांगे तो अधिकारी अपनी अलग अलग बातों से तर्क देते हुए भागते नजर आए दरअसल पूरा मामला कटनी नगरनिगम सीमा अन्तर्गत आधारकाप के सावरकर वॉर्ड का है जहॉ पर प्रशासन मे अपराधी रवि निषाद का घर तोड़ने के लिए दलबल के साथ पहुंची और आधारकाप के सावरकर वॉर्ड निवासी निराश बाई नामक बुजुर्ग महिला के घर पहुँच अचानक घर का समान बाहर
फेक बुलडोजर चला दिया रोते बिलखते हुए बुजर्ग महिला तहसीलदार संदीप श्रीवास्तव के पैरों में गिर गई और यह कहती रही कि यह कोई अपराधी का घर नही है इस घर के सभी कागज़ात उसके नाम है इस घर मे कोई भी रवि निषाद अपराधी नही रहता है। लेकिन तहसीलदार व एसडीएम व निगम प्रशासन बुजर्ग महिला निराशा बाई की एक न सुनी और उसे जबरन घर से बाहर निकाल उसके घर का पूरा समान बाहर फेंक घर पर बुल्डोजर चला घर को ज़मीदोज़ कर दिया।
पीड़ित निराशा बाई ने आरोप लगाते हुए बताया कि कल रात नगर निगम के कुछ अधिकारी के द्वारा उनके पड़ोसियों को रवि निषाद के नाम एक नोटिस दिया था और सुबह होते ही उनके घर एसडीएम तहसीलदार व कोतवाली पुलिस बल के साथ नगर निगम का अतिक्रमण दस्ता बुल्डोजर लेकर पहुँच गया और उसे घर से जबरन बाहर निकाल उसके घर का पूरा सामान बाहर फेंक घर पर बुल्डोजर चला ज़मीदोज़ कर दिया
इस पूरे मामले में जब एसडीएम प्रिया चंद्रावत से मीडिया कर्मियों ने पूछा कि यह कार्यवाही किन आधारों पर को गई है तो वह पहले यह कहती रही कि यह घर रवि निषाद का है और रवि के खिलाफ कई संगीन अपराध दर्ज है जिस वजह से घर पर बुल्डोजर चलाया गया है ..वही जब मीडिया कर्मियों ने दूसरा सवाल एसडीएम से किया कि जो घर तोड़ा गया है उस घर के कागजात यह बता रहे है कि यह घर अपराधी रवि निषाद का नही है तो वह अपने आप को बचाते हुए कहा कि इस घर का नक्सा पास नही था इसलिए घर तोड़ा गया, साथ ही करवाई के दौरान मौजूद रहे तहसीलदार संदीप श्रीवास्तव मीडिया कर्मियों के किए सवाल पर भड़क गए और यह कहते रहे कि जो भी कार्यवाही हो रही है उसके लिए नगर निगम प्रशासन या पुलिस प्रशासन से जानकारी ले जिसके बाद तहसीलदार संदीप श्रीवास्तव मीडिया कर्मियों के सवालों से भागते नजर आए।