आकांक्षी विकासखण्डों का होगा समुचित विकास प्रदेश के 50 चयनित आकांक्षी विकासखण्डों के संबंध में निर्देश जारी

Scn news india

हर्षिता वंत्रप 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर प्रदेश के चयनित आकांक्षी विकासखण्डों के समुचित विकास के लिए आकांक्षी विकासखण्ड योजना के प्रभावी क्रियान्वयन और मॉनिटरिंग के उद्देश्य से प्रभारी अधिकारी नियुक्त किये गये हैं। योजना, आर्थिक सांख्यिकी विभाग द्वारा निर्देश जारी किये गये हैं कि प्रभारी अधिकारी अपने विकासखण्ड का तुरंत दौरा करें तथा निर्धारित संकेतकों के आधार पर अपनी रिपोर्ट तैयार कर राज्य नीति एवं योजना आयोग को प्रस्तुत करें।

आकांक्षी विकासखण्ड योजना में लोक स्वास्थ्य, महिला-बाल विकास, स्कूल शिक्षा, जनजातीय कार्य, कृषि, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, सहकारिता, पशुपालन, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, ऊर्जा, नगरीय विकास, तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास एवं रोजगार विभाग और राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन से संबंधित संकेतकों के आधार पर विकास का मूल्यांकन किया जाता है।

आकांक्षी विकासखण्ड योजना में प्रदेश के चयनित 50 विकासखण्डों में मुरैना जिले का पहाडगढ़, भिण्ड का गोहद, शिवपुरी के पिछोर एवं कोलारस, टीकमगढ़ के पृथ्वीपुर, जतारा, फलेरा एवं बलदेवगढ़, पन्ना का शाहनगर एवं अजयगढ़, सतना के मझगवां एवं रामपुर बघेलान, रीवा के सिरमोर, जवा एवं हनुमना, शहडोल के पाली 1 एवं जयसिंह नगर, रतलाम का बाजना, झाबुआ के थांदला, मेघनगर, रानापुर एवं रामा, धार के निसरपुर, गंधवानी, बाघ, तिरला एवं डही, खरगोन के झिरन्या एवं भगवानपुरा, मंडला के नारायणगंज, निवास, बिछिया, मवई एवं घुघरी, अनूपपुर का पुष्पराजगढ़, अलीराजपुर के सोंडवा, उदयगढ़, अलीराजपुर एवं कट्ठीवाड़ा, श्योपुर का विजयपुर, श्योपुर एवं कराहल, उमरिया के मानपुर एवं पाली, कटनी के विजयराघोगढ़, रीठी एवं ढीमरखेड़ा और डिंडोरी जिले के बजाग, मेहंदवानी एवं करंजिया विकासखण्ड शामिल है।

Live Web           TV