पुलिस कॉन्फ्रेंस हॉल पन्ना में आयोजित की गई एकदिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला

Scn news india

मोहम्मद आज़ाद 

दिनांक 24/04/2022 को पुलिस तथा न्यायपालिका के सहयोग से एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन पुलिस कॉन्फ्रेंस हॉल पन्ना में किया गया । उक्त प्रशिक्षण के दौरान प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री उपेंद्र कुमार सिंह, ADJ श्री महेंद्र मंगोदिया, ADJ श्री कमलेश कुमार सोनी, CJM श्री राजेंद्र सिंह शाक्य, JMFC श्री प्रियंक भरद्वाज जी द्वारा पुलिस अधीक्षक पन्ना श्री धर्मराज मीना की उपस्थिति में पुलिस अधिकारी कर्मचारियों को बजाज एलियांस बनाम यूनियन ऑफ इण्डिया मामले में माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई । जिसमें प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश महोदय द्वारा सभी पुलिस अधिकारियों एवं विवेचकों को AIR (एक्सीडेन्ट इन्फॉरमेशन रिपोर्ट) में 48 घण्टे में की जाने वाली कार्यवाहियों एवं प्रारूप तथा DAR (डीटेल एक्सीडेन्ट रिपोर्ट) में 90 दिवस में की जाने वाली कार्यवाहियों एवं प्रारूप के संबंध में विस्तृत निर्देश दिये जिसमें कि जिला स्तरीय एक्सीडेन्ट क्लेम ट्रिब्यूनल द्वारा 04 माह में दुर्घटना के मामलों का निराकरण किया जा सके ।

इसके बाद ADJ श्री कमलेश कुमार सोनी जी द्वारा एन.डी.पी.एस. एक्ट तथा उसकी कार्यवाही के दौरान पुलिस द्वारा की जाने वाली त्रुटियों एवं बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई । उक्त प्रशिक्षण के दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पन्ना श्रीमती आरती सिंह, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस पन्ना ,पवई, गुनौर, अजयगढ़, रक्षित निरीक्षक पन्ना, जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री प्रवीण सिंह, पन्ना जिले के समस्त थाना प्रभारी एवं कोर्ट कार्य मंड कार्यरत कोर्ट मुहर्रिर /कोर्ट मुंशी एवं समस्त थानों के आसूचना संकलन में कार्यरत पुलिस कर्मचारी उपस्थित रहे । प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश महोदय एवं उनकी टीम द्वारा दिए गए प्रशिक्षण उपरांत पुलिस अधीक्षक पन्ना द्वारा पुलिस अधिकारी कर्मचारियों को ई-विवेचना हेतु प्रशिक्षण दिलाया गया साथ ही समस्त पुलिस अधिकारी कर्मचारियों को ई-प्रॉसीक्यूशन के बारे में जानकारी देते हुए प्रशिक्षित किया गया कि किस तरीके से विवेचना के दौरान सीसीटीएनएस के माध्यम से जिला लोक अभियोजन अधिकारी से ऑनलाइन विधिक सहायता प्राप्त की जा सकती है । साथ ही विवेचकों को साइबर संबंधी मामलो की विवेचना में होने वाली त्रुटियों में सुधार के लिये आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये ।

Live Web           TV