जय किसान फसल ऋण माफी योजना- आवेदन करने से शेष रह गये कृषक 31 जनवरी तक कर सकते हैं आवेदन

Scn news india


बैतूल,
उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास श्री केपी भगत से प्राप्त जानकारी के अनुसार जय किसान फसल ऋण माफी योजनांतर्गत जारी प्रथम विभागीय आदेश अनुसार 31 मार्च 2018 की स्थिति में सहकारी बैंक/क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक/राष्ट्रीयकृत बैंक के चालू या कालातीत खातों में दो लाख रूपए तक के ऋण राशि की ऋण माफी हेतु बैंकों से प्राप्त सूची के अनुसार ऋणी कृषकों से आवेदन पत्र नियत प्रक्रिया अनुसार समय-सीमा में प्राप्त किए गए थे।
योजनांतर्गत वे ऋणी कृषक जिनका 31 मार्च 2018 की स्थिति में सहकारी बैंक/क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक/राष्ट्रीयकृत बैंक के चालू या कालातीत खातों में बकाया राशि थी एवं तत्समय आवेदन नहीं कर सके थे, उन कृषकों द्वारा योजनांतर्गत आवेदन प्राप्त किए जाने एवं ऋण माफी हेतु लिए गए निर्णय अनुसार प्रक्रिया अनुसार कार्रवाई सुनिश्चित की जा रही है।
श्री भगत ने बताया कि ऋणी कृषकों से गुलाबी आवेदन पत्र (पिंक-1) में आवेदन संबंधित विकास खण्ड, जनपद पंचायत कार्यालय में 15 जनवरी 2020 से 31 जनवरी 2020 तक प्राप्त किए जाएंगे।
योजनांतर्गत निर्धारित गुलाबी आवेदन पत्र संलग्न प्रारूप अनुसार जिले की आवश्यकतानुसार उप संचालक कृषि द्वारा जनपद स्तर पर प्रिंट/फोटो प्रति उपलब्ध कराई जाकर उपयोग किए जाएंगे।
जनपद कार्यालय में प्राप्त आवेदनों की संख्या अनुसार डाटा एंट्री का कार्य पोर्टल पर 01 फरवरी 2020 से 10 फरवरी 2020 तक जनपद पंचायत में नियत शासकीय सेवक द्वारा ऑफ लाइन आवेदन से पोर्टल पर एंट्री का सत्यापन करने के उपरांत ही पोर्टल पर संबंधित जानकारी अपलोड की जाएगी।
गुलाबी आवेदन पत्रों को मुख्य कार्यपालन अधिकारी पंचायत द्वारा संबंधित बैंक शाखा या समिति को प्रेषित किया जाएगा तथा संबंधित बैंक शाखा या समिति परीक्षण उपरांत निराकरण (पात्रता एवं अपात्रता की स्थिति) करेगी। ऋणी कृषक के आवेदन का आधार प्रमाणीकरण अनिवार्य होगा। बैंक द्वारा निराकरण किए जाने के उपरांत अपने लॉग-इन आईडी पर विवरण अंकित किया जाएगा। तदुपरांत प्रकरण अनुमोदन हेतु कलेक्टर को भेजेंगे। कलेक्टर के लॉग-इन आईडी पर प्राप्त होने पर कलेक्टर द्वारा उपरोक्त प्रकरणों का परीक्षण कर बैंक के प्रस्ताव को अनुमोदित कर सबमिट किया जाएगा। यह सभी प्रकरण जनरल पूल में वापस आ जाएंगे। प्रकरण जिला चरण में स्वीकृत योग्य होगा, उसी चरण में बैंक को वापस भेजे जाएंगे, तत्समय की नीति और चरण अनुसार उसको स्वीकृति की प्रक्रिया में शामिल किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.