आत्म-रक्षा शिविर से छात्राएँ बनीं और अधिक सबल – प्राचार्य श्रीमती सिंह

Scn news india

मनोहर 

खेल विभाग के तत्वावधान में सोमवार को सरोजिनी नायडू शासकीय कन्या महाविद्यालय में आयोजित आत्म-रक्षा शिविर के समापन अवसर पर प्राचार्य श्रीमती प्रतिभा सिंह ने कहा कि इस शिविर के आयोजन से छात्राओं ने आत्म-रक्षा की तकनीक को सीखा। उन्होंने कहा कि छात्राएँ असुरक्षा एवं अपरिहार्य अप्रिय परिस्थितियों में स्वयं मुकाबला कर सकेंगी। उन्होंने कहा कि ऐसे शिविर महाविद्यालय में आगे भी आयोजित किये जाते रहेंगे। कार्यक्रम मुख्य अतिथि राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी डॉ. शैलबाला बघेल की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ।

डॉ. शैलबाला ने कहा कि छात्राओं ने जिस उत्साह एवं नियमितता के साथ इस प्रशिक्षण शिविर में भाग लिया, वह तारीफे काबिल है। उन्होंने कहा कि खेल-कूद ही मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य में वृद्धि करता है। आत्म-रक्षा एक प्राचीन कला है। इससे बेटियों के मन में आत्म-बल के साथ आत्म-विश्वास में भी वृद्धि होती है।

महाविद्यालय की खेल अधिकारी डॉ. रश्मि होलानी ने 15 दिवसीय इस प्रशिक्षण शिविर के आयोजन एवं छात्राओं के प्रशिक्षण के दौरान उन्हें कौन-कौन सी तकनीकें सिखाई गईं पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि इनमें से 10 खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय स्तर पर प्रतियोगिता में भाग लिया। इसमें से खिलाड़ियों ने 2 स्वर्ण-पदक और 6 काँस्य-पदक प्राप्त किये।

Live Web           TV