नगरीय क्षेत्र में आने पर ग्रामों में कोटवार को दी जमीन शासकीय रिकार्ड में अंकित कर कब्जे में ले

Scn news india

मनोहर

भोपाल-कलेक्टर श्री तरुण पिथोड़े में आज कलेक्ट्रेट सभागृह में राजस्व प्रकरणों की समीक्षा की  जिसमें सभी एसडीएम, तहसीलदार को निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोटवार को जो जमीन उपलब्ध कराई गई थी।  नगरीय सीमा में सम्मिलित होने पर उक्त जगह कोटवार को दी गई। शासकीय भूमि को पुनः कब्जे में लेकर उसे शासकीय भूमि के रूप में राजस्व रिकार्ड में अघतन करें।
राजस्व प्रकरणों में त्वरित गति से कार्य करें। आविवादित नामांतरण, बटवारे सीमांकन के प्रकरणों को समय- सीमा में निपटाया जाए। इसके लिए तहसीलदार, राजस्व निरीक्षक और पटवारियों के कार्यो की भी निरंतर जांच और समीक्षा करें।
ग्रामीण क्षेत्रों में दौरे के दौरान आम जनता से चर्चा करें और देखे की कितने प्रकरण लंबित हैं। किसी भी ग्रामीण जन को इन प्रकरणों के लिए ऑफिसों के चक्कर नहीं लगाने पड़े ऐसी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाए।
कलेक्टर श्री पिथोड़े ने कहा कि जिले में  पुराने कोई भी प्रकरण लंबित नहीं रहना चाहिए। सभी प्रकरणों में समय-समय पर समीक्षा कर तुरंत कार्रवाई करें।
समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि विभाग के अधिकारियों को भी साथ लेकर जाएं,  फसलों का आकलन भी करते रहे, कृषि विज्ञानियों की मदद से कृषकों को उचित सलाह भी प्रदान की जाए, इसके साथ ही पटवारी ,आरआई, कोटवार आदि के साथ निरंतर संवाद स्थापित करें। ग्रामीण क्षेत्रों में आम जनता से निरंतर संपर्क बनाए रखें और उनकी अन्य समस्याओं का त्वरित निराकरण करें। “आपकी सरकार आपके द्वार” कार्यक्रम में माननीय मंत्री जी के द्वारा दिए गए निर्देशों को समय- सीमा में  पालन कराएं। कानून व्यवस्था के लिए भी निरंतर आम लोगों से संपर्क और संवाद बनाए रखें। बैठक में सभी एडीएम, एसडीएम और अन्य राजस्व अधिकारी भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.