“पंचायत की उलटी सीधी परिक्रमा” – नल जल पर बहाये लाखों पर फिर भी सूखे कंठ, प्यासा जीवन प्यासे लोग

Scn news india

ओमकार पटेल तहसील ब्यूरो बिछिया 
एससीएन न्यूज इंडिया के ख़ास कार्यक्रम – “पंचायत की उलटी सीधी परिक्रमा” में हमारे तहसील ब्यूरो ओमकार पटेल ने मंडला जिले के  जनपद पंचायत बिछिया  अंतर्गत ग्राम पंचायत दिवारा में पंचायत की उलटी सीधी परिक्रमा कर उनकी उपलब्धियों और कमियों पर शासन – प्रशासन का ध्यानाकर्षण कराया है। साथ भी स्थानीय आम ग्रामवासियो  से भी चर्चा की। जिसमे कई कमियां और खामियां नज़र आई।

“पानी के लिए  तरस रहे ग्रामीण”-

सबसे बड़ी एवं जटिल समस्या  पीने के पानी की सामने आई , प्रशासनिक लापरवाही के चलते लगभग 5 लाख रूपये खर्च करने के बाद भी  पाईप सिर्फ हवा उगल रही है। बता दे की नल जल योजना अंतर्गत पंचायत द्वारा नल जल योजना के मरम्मत हेतु दिनांक -16/04/2017 को ग्राम पंचायत द्वारा प्रस्तावित नल जल योजना को 4,99,000/- की राशि की   तकनीकी स्वीकृति 07/05/2018 को मिली थी । जिससे  गाँव में जलापूर्ति सुचारु हो सके। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। आज  भी गाँव में बिना पानी के खड़े टोटी रहित नल , बेजान पड़ी पाइप लाइन इसकी कहानी बयां कर रही है।

यानी यहाँ  पी एच ई विभाग एवं पंचायत स्तर पर नल जल योजना के तहत पाईप लाईन डाली तो गई लेकिन आज तक लाईन चालू नहीं हुई ग्रामीणों के अनुसार सरपंच लालाराम मसराम के द्वारा आज तक कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा।   गांव के किनारे से सुरपन नदी है लेकिन रेत माफियाओं के चलते नदी भी सूख गयी,

“स्वच्छता सर्वेक्षण पर पलीता “

पूरे गांव की नालियों में गंदगी का अम्बार लगा हुआ है , कीचड़ के  अंबार से  तरह तरह की बिमारियों का अंदेशा  बना हुआ है , ग्राम स्वराज भवन जिसके लिए राज्य सरकार द्वारा 10 लाख एवं विधायक निधि से एक लाख पचास हजार स्वीकृत हुए आज भी  वर्षों से अधर में लटका हुआ है , निर्मल भारत / स्वच्छ भारत अभियान–सामुदायिक शौचालय लगभग 344000/- की राशि से  बनाया तो गया।

लेकिन आज तक ताला नहीं खुला और जगह जगह कांप्लेक्स में दरारें पंचायत में चल रहे उल्टे पुल्टे काम की ओर इशारा कर रही है। जिसकी गंभीरता से जांच होनी चाहिए। बता दे कि प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान किसी भी तरह से जनता के कार्यो में अड़ंगा डालने वालों को खुले मंच से चेतावनी दी है , सुधर जाओ वरना बदल दूंगा।  इसके बाउजूद भी अधिकारी कर्मचारी में काम के प्रति गंभीरता नजर नहीं आ रही।

बता दे कि  पानी की समस्या एवं  सरपंच , सचिव के  मनमानी रवैया को लेकर महिलाएं व ग्रामीण जल्द  उग्र आंदोलन करने की चेतावनी दे रहे है।

इनका कहना है –

पिने के पानी के लिए हेंड पम्प है ख़राब होने से असुविधा हो रही है ,सुधार करने के लिए  विभाग को बताया गया है।  एक दो दिन में ठीक हो जाएगा।

सचिव अइय्या लाल साहू 

( “पंचायत की उलटी सीधी परिक्रमा” में गाँव की पूरी खबर देखने के लिए scn news india मोबाईल एप डाउनलोड करें )