अंजना गृह उद्योग मसाला फैक्ट्री के मालिक वैदिक राठौर का कारनामा -भोले भाले लोगों के जान से खिलवाड़

Scn news india

मनोहर

जबलपुर में खाद्य विभाग की टीम को मिलावटी व नकली मसाला फैक्ट्री का भांडा फोड़ करने में बड़ी सफलता मिली है। जहाँ प्रदेश के भोले भाले लोगों के जान के साथ फैक्ट्री के मालिक वैदिक राठौर नकली मसाले खिला खिलवाड़ कर रहा था। जो अब पुलिस की गिरफ्त में है। अंजना गृह उद्योग मसाला फैक्ट्री के संचालित इस फैक्ट्री में लाखों रूपयों का नकली और घटिया मसाला बरामद किया है। फेक्टरी में सरसो, सोयाबीन एवं धनिया के डंठल से गरम मासाला और धनिया पाउडर तैयार किया जा रहा था। क्राइम ब्रांच और खाद्य विभाग की  संयुक्त टीम ने मुखबिर की सुचना पर छापा मार कारवाही करते हुए फैक्ट्री से सोयाबीन , सरसो और  धनिया के डंठल की भारी मात्रा में बोरियां बरामद की है। इन डंठलों को  भुंज कर पिसा जाता था और गरम मसाला तैयार कर ब्रांडेड कंपनी के लेबल एवन के नाम से बाज़ार में बेचा जा रहा था। पूछताछ में संचालक ने जबलपुर के अलावा प्रदेश के अन्य जिले – कटनी , मैहर, सतना, रीवा ,शहडोल, सिंगरोली, नरसिंहपुर आदि जिलों में तैयार किया हुआ माल सप्लाई करना स्वीकार किया है।  क्राइम ब्रांच और खाद्य विभाग  ने मामला कायम कर जांच में लिए है।

बता दे कि  मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह सरकार ने मंत्री परिषद की बैठक में मिलावट के मामलों से जुड़ी हुई भारतीय दंड संहिता की 5 धाराओं में संशोधन को मंजूरी दे दी है। अब मध्यप्रदेश में मिलावट खोरी करने वालों को रासुका के साथ आजीवन कारावास की सजा का प्रावधान किया गया है।  इसके बाद भी मिलावट खोरो को जरा भी डर नहीं।