रासेयो शिविर समाज से जुड़ने का सीधा माध्यम हैं- मीरा एंथोनी

Scn news india

प्रवीण सोनी 

  • *राष्ट्र सेवा योजना के सात दिवसीय विशेष शिविर का हुआ समापन*
  • *रासेयो शिविर समाज से जुड़ने का सीधा माध्यम हैं- मीरा एंथोनी*

शासकीय कॉलेज के राष्ट्रीय सेवा योजना की संयुक्त इकाई के सात दिवसीय शिविर का समापन बुधवार को आयोजित किया गया। ग्राम पावरझंडा में लगे इस शिविर के दौरान स्वयंसेवकों ने ग्रामीणों को स्वच्छता सहित अन्य जानकारी, नुक्कड़ नाटक, रैली और अन्य कार्यक्रम के माध्यम से ग्रामीणों को जागरूक किया। कार्यक्रम की शुरुआत दलनायका कृती भलावी द्वारा स्वागत गीत गाकर की गई इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में वरिष्ठ समाजसेवीका श्रीमती मीरा एंथोनी रासेयो के जिला संगठक डॉ. सुखदेव डोंगरे , भाजपा मंडल अध्यक्ष मनीष कुमारे , सांसद प्रतिनिधि आशीष राठौर, प्राचार्य प्रो.एम. डी. बाघमारे, कार्यक्रम अधिकारी डॉ संजय बाणकर, प्रो. नीतू जयसवाल उपस्थित थे।

इस मौके पर शिविर नायक राजकमल श्रीवास्तव ने शिविर के सातों दिनाें का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। सात दिवसीय विशेष शिविर में महाविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों ने सहभागिता की शिविर में सात दिन सात अलग-अलग विषयों पर बौद्धिक कार्यक्रम के अंतर्गत विषय विशेषज्ञ एवं गणमान्य नागरिक को आमंत्रित किया गया।

समापन कार्यक्रम में श्रीमती एंथोनी ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना के माध्यम से समाजसेवा और समाज से जुड़ने का अवसर मिलता है,उन्होंने कहा कि जो बातें हमें किताबें नहीं सिखा सकतीं वह हमें रासेयो शिविर में सीखने को मिलती हैं। रासेयो शिविर समाज से जुड़ने का सीधा माध्यम हैं। प्रो. बाघमारे ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना अनुशासन और समाज सेवा का पाठ पढ़ाती है। इससे जुड़कर विद्यार्थियों में सामाजिक उत्तरदायित्व की भावना का विकास होता है। स्वयंसेविका प्रियंका चौहान ने भी महिला सशक्तिकरण पर अपना भाषण प्रस्तुत किया।

ग्राम सरपंच श्री ईश्वरदास कुमरे ने रासेयो के विद्यार्थियों द्वारा गांव में चलाए गए जागरूकता अभियान एवं किए गए कार्यों की सराहना करते हुए कालेज प्राचार्य को गांव में शिविर लगाने हेतु धन्यवाद दिया। कार्यक्रम का संचालन स्वयंसेविका पायल मिश्रा एवं भूमिका चतुरकर द्वारा किया गया। शिविर में सर्वश्रेष्ठ स्वयंसेवक का पुरस्कार आशीष नौरे , राहुल इवने, रविंद्र जोठे को दिया गया एवं सर्वश्रेष्ठ नाटक मंचन का पुरस्कार हरिदास काकोरिया एवं सुभाष बकोरिया को दिया गया। कार्यक्रम अधिकारी डॉ संजय बाणकर द्वारा कार्यक्रम में पधारे सभी अतिथियों एवं ग्रामीणजनों का आभार व्यक्त किया गया।