आरक्षक के कंधों पर आते भार को देख आगे आया स्टाफ कर्मचारियों को सन्देश देते हुए,गैसाबाद पुलिस ने पेश की मिशाल

Scn news india

स्वामी सींग दमोह

ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों का भी एक सामूहिक परिवार होता है।एक ही जगह सेवाएं देने वाले सहकर्मी परिवार के सदस्यों की भांति ही होते है, जो सुख दुःख में एक दूसरे के साथ खड़े रहे,शायद इन्ही पंक्तियों को चरितार्थ करते हुए हटा अनुविभाग के गैसाबाद थाना पुलिस ने आज एक नई मिशाल पेश की है।
दरअसल थाना में पदस्थ आरक्षक अंकित मिश्रा जी की वर्ष 2013 में माँ और हाल ही में पिता के लम्बी बीमारी से दुःखद निधन के बाद वर्ष 2016 बेच के 22 वर्षीय आरक्षक 305 अंकित मिश्रा पर अपने दो छोटे भाई-बहिन की जिम्मेदारी और कर्तव्यों के निर्वाहन में कोई दिक्कत या अड़चन न आए इसके लिए थाना गैसाबाद प्रभारी बी एस ठाकुर और स्टाफ परिवार ने सहकर्मी अंकित मिश्रा को परिवार का हिस्सा मानते हुए,परिवारिक सदस्यों की भांति ढाना (सागर) गांव पंहुचकर राशि 21000 रुपये नकद सौपते हुए आरक्षक को ढांढस बंधाया और सम्वेदनाएँ जताते हुए सम्बल प्रदान किया।थाना गैसाबाद की पहल निश्चित ही कर्मचारियों के बीच भाईचारे और सामंजस्य की प्रेरणादायक है।इस प्रकार की पहल से समाज मे एक नया सन्देश जाता है।और सहकर्मी को साहस और शक्ति के साथ कार्य करने की ऊर्जा मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.