मुख्यमंत्री श्री चौहान अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर महिलाओं को देंगे पोषण आहार संयंत्र की सौगात

Scn news india

फ़ाइल फोटो

हर्षिता वंत्रप 

भोपाल- मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर स्व-सहायता समूह की महिलाओं को पोषण आहार संयंत्र की विशेष सौगात देंगे। देवास मुख्यालय पर होने वाले राज्य स्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान आजीविका मिशन में गठित महिला समूहों के परिसंघों को पोषण आहार संयंत्र की चाबी सौंपने के साथ 300 करोड़ रूपये के बैंक ऋण का वितरण भी करेंगे। साथ ही प्रदेश के संकुल स्तरीय संघों को उल्लेखनीय कार्य करने के लिये प्रशंसा-पत्र भी दिए जाएंगे। कार्यक्रम में सांसद श्री जे.पी. नड्डा भी उपस्थित रहेंगे। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण संचार के विभिन्न माध्यमों से किया जाएगा, जिससे प्रदेश के लाखों स्व-सहायता समूहों की सदस्य जुड़ेंगी।

 उल्लेखनीय है कि आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लिये राज्य सरकार महिलाओं के सामाजिक एवं आर्थिक सशक्तिकरण के लिये सर्वोच्च प्राथमिकता से काम कर रही है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग अंतर्गत मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में निवासरत निर्धन श्रेणी के परिवारों की 40 लाख महिलाओं को स्व-सहायता समूहों से जोड़कर संगठित किया गया है। समूह सदस्यों को आजीविका के एक से अधिक अवसर उपलब्ध कराने के लिये उनके परंपरागत आय के साधनों पर निर्भरता कम करते हुए अन्य सूक्ष्म उद्यमों से जोड़ कर अतिरिक्त आय के स्त्रोत बढ़ाने में सहयोग किया जा रहा है।

मिशन द्वारा समूह सदस्यों को प्रशिक्षण, मार्गदर्शन एवं वित्तीय सहयोग देते हुए लगभग 100 प्रकार की विभिन्न व्यवसायिक गतिविधियों से जोड़कर आत्म-निर्भर बनाने का प्रयास किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में कृषि एवं पशुपालन, दुग्ध व्यवसाय के सुदृढ़ीकरण के साथ नये व्यवसाय भी शुरू कराये जा रहे हैं। इनमें मुख्य रूप से वस्त्र निर्माण, सिलाई, साबुन, अगरबत्ती, सेनेटरी नेपकिन, सहित खाद्य पदार्थ एवं स्वच्छता वस्तुओं तथा अन्य कई उत्पाद समूह सदस्यों द्वारा बनाये जा रहे हैं। इन उत्पादों को आजीविका मार्ट पोर्टल के माध्यम से बेचा जा रहा है।

प्रदेश में पोषण आहार संयंत्रों के संचालन का काम तथा ग्रामीण क्षेत्रों में गैस सिलेण्डर, डीजल, लुब्रीकेंट ऑयल की बिक्री,पेयजल प्रदाय योजनाओं का प्रबंधन, पंचायतों में कर संग्रहण, फ्लाई एश से ईंट निर्माण, सेंटिंग, आजीविका एक्सप्रेस सवारी वाहन संचालन, फसल उपार्जन जैसे काम भी समूह सदस्यों तथा परिसंघों को दिये जा रहे हैं। इससे उनके अतिरिक्त आय के विकल्पों में लगातार वृद्धि हो रही है।

प्रदेश के समस्त जिलों में जिला मुख्यालय एवं अन्य स्थानों पर भी महिला दिवस के उपलक्ष में कार्यक्रम किये जायेंगे। देवास से राज्य स्तरीय कार्यक्रम का प्रसारण दूरदर्शन, आकाशवाणी तथा विभिन्न सोशल मीडिया माध्यमों, वेबकास्ट और इंटरनेट पर भी किया जायेगा। जिलों में एनआईसी केन्द्रों में भी समूह सदस्य कार्यक्रम से जुड़ेंगी। कार्यक्रम का प्रसारण ग्राम पंचायत स्तर तक समूह सदस्य विभिन्न माध्यमों से देख सकेंगे।