दतिया- जोरदार धमाकों और धूल के गुब्बार से दहला पूरा जंगल-गिरते गोलों को देखकर दहशत

Scn news india

विकास सेन दतिया 

  • दतिया की सुप्रसिद्ध रतनगढ़ माता मंदिर के पास जोरदार धमाकों और धूल के गुब्बार से दहला पूरा जंगल
  • हवा में उड़ते एयरक्राफ्ट से गिरते गोलों को देखकर दहशत में रतनगढ़ माता मंदिर परिसर में पहुंचे श्रद्धालु।

दतिया के सुप्रसिद्ध रतनगढ़ माता मंदिर में जोरदार धमाकों और धुएँ के गुबार से पूरा जंगल दहल गया। हवा में उड़ते एयरक्राफ्ट और उनसे गिरते गोलों को देखकर रतनगढ़ माता मंदिर परिसर में पहुँचे श्रद्धालु भी सहमे से नजर आए। यूक्रेन और रूस के बीच चल रहे भीषण युद्ध के दौर में अचानक हुई बमबारी से लोग डरे हुए नजर आए।लोगों को यकायक यह लगा कि यह आफत क्या आ गई।

हालाँकि प्रशासनिक अधिकारी इस पर कुछ भी बोलने से बचते नजर आए। बीते रोज SP दतिया अमन सिंह राठौड़ इस क्षेत्र में डकैतों की सुगबुगाहट के बीच जंगल में उतरे हुए थे आज अचानक हुई गोलाबारी से रतनगढ़ जंगल के आसपास के ग्रामीणों में दहशत जैसा माहौल बन गया। रतनगढ़ मंदिर पहुँचे एक श्रद्धालु जिन्होंने इस भीषण दृश्य को अपनी आंखों से देखा और आंखों देखा हाल हमें बताया। हालाँकि इस गोलाबारी से किसी भी प्रकार के हादसे की कोई खबर नहीं है। गोलाबारी किसने की और क्यों कि यह अभी रहस्यास्पद है। पर गोलाबारी हुई है। आसमान में उड़ते एयरक्राफ्ट और धुएँ के उड़ते गुबार की तस्वीरें हमने अपने कैमरे में कैद कीं।

रतन सिंह ( श्रद्धालु)

दतिया के सुप्रसिद्ध रतनगढ़ माता मंदिर के चारों तरफ कई किलोमीटर तक भयानक जंगल फैला हुआ है। वैसे रतनगढ़ माता को विषहर्ता देवी माना जाता है। प्रत्येक सोमवार को यहां विशाल मेला लगता है । यहां श्रद्धालुओं का आना जाना प्रतिदिन लगा रहता है। रतनगढ़ माता मंदिर के जंगलों में कुछ एयरक्राफ्ट उड़ते हुए दिखाई दिए और उनके द्वारा कुछ गोले जंगल में दागे गए। जिन्हें देखकर माता पर दर्शन करने पहुंचे श्रद्धालु सहम गए। यह गोले किसने चलाए हैं और क्यों चलाए हैं यह अभी रहस्यास्पद है।

हम इसकी पड़ताल करने में लगे हुए हैं। प्रशासन भी अभी इस मामले में कुछ कहने से बचता हुआ नजर आ रहा है । फिलहाल किसी भी प्रकार के हादसे की कोई खबर नहीं है। किंतु रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे महासंग्राम के बीच यकायक गोले चलने से लोग बेहद डर जरूर गए हैं। गोले किसने दागे और क्यों दागे यह अभी कहा नहीं जा सकता। अगर लोगों की माने तो वह एयरक्राफ्ट वायुसेना के होने का अनुमान लगा रहे हैं। लेकिन यह सब अनुमान ही है। हकीकत क्या है यह पड़ताल करने के बाद ही कहा जा सकता है।

रतनगढ़ माता मंदिर पर दर्शन करने पहुंचे एक श्रद्धालु इस घटना के चश्मदीद साक्षी है। हमने भी इस घटना को अपने कैमरे में कैद किया हुआ है।