मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष का भैंसदेही विकासखंड में संक्षिप्त भ्रमण

Scn news india

धनराज साहू तहसील ब्यूरों

  • मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष व सदस्य ने आंगनवाड़ी केंद्र का किया निरीक्षण
  • प्राथमिक शाला में किचन सेड के निरीक्षण में गंदगी देख हुए नाराज। सुधार के दिए निर्देश

मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति श्री नरेंद्र कुमार जैन (पूर्व मुख्य न्यायाधीपति) एवं आयोग के सदस्य श्री सरबजीत सिंह ने सतपुड़ा की सुरम्य वादियों में बसे भैंसदेही विकासखंड के संक्षिप्त भ्रमण के दौरान आंगनवाड़ी केंद्र चिल्कापुर (गुदगांव) का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

निरीक्षण के दौरान आंगनवाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती इंदिरा बारस्कर ने आयोग को आवश्यक जानकारी से अवगत कराया। इस दौरान आयोग के अध्यक्ष व सदस्य द्वारा बच्चों से भी चर्चा की गई। आंगनवाड़ी केंद्र के निरीक्षण के दौरान जिला कार्यक्रम अधिकारी संजय जैन, परियोजना अधिकारी श्रीमती उषा मसीह, प्रभारी तहसीलदार श्रीमती लवीना घागरे, नायब तहसीलदार अखिलेश कुशराम, एसडीओपी श्री बोहित, थाना प्रभारी तरन्नुम खान, सेक्टर सुपरवाइजर श्रीमती सुनीता कास्देकर, हल्का पटवारी पंकज मकोड़े, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती इंदिरा बारस्कर सहित पुलिस विभाग की टीम मौजूद थी।

आंगनवाड़ी केंद्र के निरीक्षण के पश्चात आयोग के अध्यक्ष एवं सदस्य के द्वारा सांझा चूल्हा कार्यक्रम के अंतर्गत प्राथमिक शाला चिल्कापुर में संचालित मध्यान्ह भोजन के किचन सेड़ का निरीक्षण कर वहां गंदगी पाए जाने पर नाराजगी जाहिर करते हुए व्यवस्था में सुधार लाने के निर्देश दिए। किचन सेड के निरीक्षण के दौरान आयोग के अध्यक्ष श्री नरेंद्र कुमार जैन ने कुछ समय पूर्व प्रदेश में मध्यान्ह भोजन के किचन सेड में आंगनवाड़ी के एक बच्चे के कढ़ाई में गिर जाने व उसकी मौत हो जाने की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि ऐसी घटनाएं अत्यंत दुखद एवं निंदनीय है।

हमें इससे सबक लेकर विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। निरीक्षण के पश्चात एससीएन न्यूज़ इंडिया के हमारे तहसील ब्यूरो धनराज साहू से चर्चा करते हुए आयोग के अध्यक्ष श्री नरेंद्र कुमार जैन एवं एवं सदस्य श्री सरबजीत सिंह ने मानव अधिकार आयोग की मानव अधिकार के संरक्षण में क्या भूमिका है …? उसके संदर्भ में विस्तार पूर्वक अवगत कराया।

उन्होंने मौलिक अधिकारों की चर्चा करते हुए कहा कि मानव अधिकारों का हनन पाए जाने की दशा में आयोग राज्य शासन से कार्यवाही की अनुशंसा करता है और राज्य शासन द्वारा विधि अनुसार कार्रवाई की जाती है। हमारे संवाददाता धनराज साहू से चर्चा के दौरान उन्होंने बैतूल में आयोग द्वारा किए गए जेल के निरीक्षण के संबंध में भी जानकारी से अवगत कराया।