एक छोटे-से गाँव के युवा अंशु पवार की बड़ी-सी उपलब्धि अखिल भारतीय रेलवे परीक्षा में 14 वीं रेंक

Scn news india

ब्यूरो रिपोर्ट 

  • एक छोटे-से गाँव के युवा अंशु पवार की बड़ी-सी उपलब्धि
  • अखिल भारतीय रेलवे परीक्षा में 14 वीं रेंक
  • रेलवे कोरीडोर निर्माण में एक्जेक्यूटिव ओपीबीडी का जाब

सांईखेड़ा:- शासकीय इंजीनियरिंग कालेज उज्जैन से बीई उत्तीर्ण करने वाले अंशु पवार पिंजारे विद्यार्थी जीवन से विदेश मंत्रालय (एक्सटर्नल अफेयर्स) में सर्विस करने के लक्ष्य को लेकर तैयारी कर रहे थे. यूपीएससी की कम्बाइंड डिफेंस सर्विस परीक्षा क्रेक करने के बावजूद अपने लक्ष्य को पाने की खातिर अंशु द्वारा उसे ज्वाइन नहीं किया गया.

तैयारी करते रहने और परीक्षा देने के अनुभव से अखिल भारतीय रेलवे परीक्षा में अंशु की 14 वीं रेंक आई है. एक छोटे-से गाँव टेमझिरा तहसील मुलताई जिला बैतूल के युवा की यह बड़ी-सी उपलब्धि है. इस आधार पर आपको रेलवे कोरीडोर निर्माण में एक्जेक्यूटिव ओपीबीडी का जाब मिल गया है. पर निर्धारित मंजिल का लक्ष्य अभी भी आंखों में साफ दिखाई दे जाता है.

घर में माँ और मेनिट भोपाल से बीई कर रही छोटी बहन के उत्तरदायित्व को निभाने के लिए अंशु इसे ज्वाइन तो रहे हैं पर
पितृविहीन अंशु अभी भी विदेश विभाग के लिए प्रतिबद्ध और कटिबद्ध है.

युवाओं को अपने संदेश में आप कहते हैं कि ध्येय सदा ऊंचा रखे,भले ही सफलता छोटी मिले. पापा के पेंशन से भाई बहन की उच्च तकनीकी शिक्षा के प्रबंधन से भी जीवन में सीख लेने वाले अंशु प्रबंधन पर भी विश्वास करते हैं.

सुखवाड़ा परिवार ने इनकी इस उपलब्धि पर बधाई प्रेषित करते हुए इनके विदेश विभाग में चयन होने की कामना की व बधाई दी।