टेमझीरा के किसानो को मिलेगी 2017 की फसल बीमा राशि

Scn news india

ब्यूरो रिपोर्ट 

सांईखेड़ा:- मुलताई तहसील के अंर्तगत ग्राम टेमझीरा अ के 8 किसानो को खरीफ फसल सोयाबीन की 2017 की फसल बीमा राशि के 5.21.562/- रु. का भुगतान सहकारी बैंक खेड़ीकोर्ट तहसील मुलताई द्वारा करने के आदेश जिला उपभोक्ता आयोग बैतूल के अध्यक्ष न्यायधीश बिपिन बिहारी शुक्ला व माननीय सदस्य अजय श्रीवास्तव द्वारा दिये गये हैं।

एडवोकेट दिनेश यादव बताया कि मुलताई तहसील के गांव टेमझीरा के किसानों की फसल खरीफ 2017 में प्राकृति आपदा से खराब हो गयी थी इन किसानो को राजस्व विभाग द्वारा किये गये सवे के अनुसार 44.30% बीमा राशि मिलना था मगर सहकारी बैंक खेड़कोर्ट के द्वारा किसानो का पटवारी हल्का नंबर बदल कर टेमझीरा अ के स्थान पर टेमझीरा ब कर दिया जिस कारण किसान फसल बीमा राशि पाने वंचित हो गये। आयोग द्वारा प्रकरण में पटवारी हल्का नंबर बदले के कारण सहकारी बैक दोषी पाया। इस पटवारी हल्का में सहकारी बैंक की गलती के कारण लगभग ढाई सौ किसान फसल बीमा राशि खरीफ 2017 पाने से वंचित हो गये थे। गांव के तीस किसानों ने अधिवक्ता दिनेश यादव के माध्यम से उपभोक्ता आयोग प्रकरण दर्ज किय जिस कारण तीस में 8 किसानो को बीमा राशि देने आयोग द्वारा गये है। शेष 22 किसानो को बहस के बाद शीघ्र बीमा राशि मिलेगी इस आदेश के अनुसार टेमझीरा अ के किसान गोरे लाल पिता गोपाल पिंजारे को 1,75000 रुपये, श्रीराम पिता कचरया घोड़की को 44,912 रुपये, राम चरण पिता हरि पवॉर 35,285 रुपये, सूरज पिता बनवारी पिंजारे को 30,333 रुपये, राजू पिता दशरथ पवॉर 43,224 रुपये, पर्वतराव पिता धन्नु घोड़की 45,452 रुपये, कचरया पिता प्यारेलाल बागमारे को 83,320 रुपये व लुड़का बाई पत्नी महंग्या पवॉर 60.838 रुपये फसल बीमा राशि का भुगतान तीस दिन में करने के आदेश दिये गये है। अन्यथा बैक को यह राशि 5% ब्याज के साथ भुगतान करना होगा। एडवोकेट दिनेश यादव है कि इस आदेश से उन किसानो को राहत मिलेगी जो बैंको की गलती के कारण फसल बीमा राशि पाने से वंचित हो जाते है।