अनुठी विशिष्टताओं के लिए जाना जाता है पाथाखेड़ा का राज्य स्तरीय क्रिकेट टूर्नामेंट : 10 राज्यों की 64 टीमों के 1500 क्रिकेटर खेले

Scn news india

  • सोने-चांदी के सिक्कों से टॉस, बेस्ट दर्शक को भी पुरस्कार 
  • राजनीतिक मतभेदों पर भारी रहती है खेलभावना 
  • स्व.विजय खंडेलवाल की स्मृति में होता है आयोजन

सारणी । कोयलांचल पाथाखेड़ा में संपन्न हुआ राज्य स्तरीय टेनिस बॉल क्रिकेट टूर्नामेंट अपनी अनुठी विशिष्टताओं के लिए सदैव पहचाना जाएगा। जिले के स्वर्गीय सांसद विजय कुमार खंडेलवाल की स्मृति में जन आदर्श स्पोर्ट्स एंड वेलफेयर क्लब के तत्वाधान में पिछले लगातार 12 वर्षों से आयोजित होने वाला क्रिकेट का महाकुंभ हर बार कुछ अनूठे प्रयोगों के चलते अपनी विशिष्ट छाप छोड़ जाता है। आयोजन की भव्यता शामिल होने वाली टीमों की संख्या और मैच देखने वाले दर्शकों की संख्या के आधार पर इसे जिले का सबसे बड़ा खेल आयोजन कहा जा सकता है। आयोजन समिति के सरक्षक रंजीत सिह, नन्हे सिह,जीपी सिह,सुधा चन्द्रा,भीम बहादूर थापा ने बताया की इस बार इस टूर्नामेंट में 10 राज्यों की 64 टीमों के 1500 क्रिकेटरों ने मैच खेले। दिल्ली,पंजाब, हरियाणा, उत्तरप्रदेश, महराष्ट्र, छतिसगढ,गुजरात, झारखण्ड, बिहार और उत्तराखंड आदि राज्यों से क्रिकेटर मैच खेलने पाथाखेड़ा आए।आयोजन समिति के प्रमुख भाजपा नेता रंजीत सिंह हैं लेकिन राजनीति से ऊपर उठकर पूरे टूर्नामेंट के दौरान खेल भावना सर्वोपरि रहती है।

समिति के निर्णय भी निष्पक्ष होते हैं। टूर्नामेंट के दौरान विभिन्न राजनीतिक दलों के जनप्रतिनिधियों सहित प्रशासन, मीडिया और आम जनता की भागीदारी बढ़ चढ़कर रहती है।
प्रतिवर्ष जनवरी के प्रथम सप्ताह में आरंभ होकर गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को टूर्नामेंट का समापन होता है। लेकिन इस बार कोविड गाइडलाइन के चलते टूर्नामेंट विलंब से आरंभ हुआ और 20 फरवरी को लगभग 10 हजार दर्शकों की मौजूदगी में प्रतियोगिता का फाइनल मैच खेला गया।

फाइनल मैच के दौरान सांसद दुर्गादास उइके, विधायक डॉ योगेश पंडाग्रे, भाजपा जिला अध्यक्ष आदित्य बबला शुक्ला,वरिष्ठ समाज सेवी मुकेश खण्ड़ेलवाल,नगर पालिका अध्यक्ष, श्रीमती आशा महेंद्र भारती सतपुड़ा, नपा उपाध्यक्ष भीम बहादूर थापा,सतपुड़ा ताप विद्युत गृह के मुख्य अभियंता आरके गुप्ता, टीआई रत्नाकर हिंग्वे, भाजपा नेता पी जे शर्मा, विशाल बत्रा, कमलेश सिंह, सुधाकर पवार, नागेन्द्र निगम,सुधा चंद्रा,अबिजर हुसैन, सन्जू सोलंकी, सिताराम चढ़ोकर, प्रकाश शिवहरे, शोभापुर व्यपारी संघ अघ्यक्ष रमेश हरोड़े, बगड़ोना व्यपारी संघ अध्यक्ष राजू बतरा,भारतीय मजदूर संघ अध्यक्ष प्रमोद सिह, सांसद प्रतिनिधी दशरथ सिह जाट सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक इस महा आयोजन के साक्षी बने। आयोजन की सफलता के पीछे समिति के अध्यक्ष रंजीत सिंह सहित जीपी सिंह, भीम बहादुर थापा, सुधा चंद्रा, नन्हे सिंह, सुभाष सिंह, खुशीलाल पवार किशोर डेहरिया प्रमोद सिंह, राजा गोहे, पिंटू अंसारी, संजीत चौघरी, योगेश बर्डे, अजय प्रजापति, दिलीप विश्वकर्मा एवं समिति के अन्य सदस्यों एवं सहयोगियों की महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। बकौल रंजीत सिंह टूर्नामेंट केे लिए समूचे औद्योगिक क्षेत्र की जनता ,व्यापारियों, प्रशासन एवं राजनीतिक दलों का भरपूर प्यार मिलताा है ।

सोने-चांदी के सिक्कों से टॉस, बेस्ट दर्शक को भी पुरस्कार

प्रतियोगिता के सेमीफाइनल एवं फाइनल मैचों के दौरान अनूठा प्रयोग किया गया। सेमी फाइनल मैचों का टॉस चांदी के सिक्के से और फाइनल-सुपर फाइनल मैच का टॉस सोने के सिक्के से किया गया। सोने का सिक्का पिंटू अंसारी द्वारा उपलब्ध कराया गया। मैच के दौरान एक और अनूठा प्रयोग बेस्ट दर्शक के पुरस्कार का भी होता है। इस बार यह पुरस्कार सारणी के अंकित नागले को दिया गया। अंकित नियमित रूप से प्रत्येक मैच में मैच देखने के लिए उपस्थित रहते थे। इसके अलावा प्रत्येक छक्के के दौरान सीमा रेखा के बाहर कैच पकड़ने वाले दर्शक भी हर मैच में पुरस्कृत होते रहे। इस बार प्रतियोगिता की विजेता टीम शिवा-11 को रॉयल एनफील्ड की बुलेट बाइक पुरस्कार स्वरूप प्रदान की गई। उप विजेता रही रेड रोज को ₹75000 की नगद राशि और मैन ऑफ द सीरीज रहे राहुल यादव एक्का को शानदार स्पोर्ट्स साइकिल पुरस्कार में दी गई। इसके अलावा बेस्ट बॉलर, बेस्ट बैट्समैन, बेस्ट विकेट कीपर, बेस्ट फील्डर सहित लगभग दो दर्जन श्रेणियों में पुरस्कार वितरित किए गए।

चीयर बॉयस रहे आकर्षण का केंद्र

अंतरराष्ट्रीय मैचों में चीयरलीडर्स की कल्पना को क्षेत्रीय स्तर पर उतारते हुए आयोजन समिति ने इस टूर्नामेंट में चीयर बॉयस की व्यवस्था की थी। प्रत्येक चौके छक्कों और विकेट पर उत्साहित होकर म्यूजिक की थाप पर नृत्य करते चीयर ब्वॉय पूरे टूर्नामेंट में दर्शकों का ध्यान खींचते रहे।