प्रत्येक ग्राम में गौरव दिवस मनाया जायेगा विभाग द्वारा निर्देश जारी

Scn news india

मनोहर

भोपाल-प्रत्येक ग्राम की एक सकारात्मक एवं विशिष्ट पहचान स्थापित करने के लिए तथा समुदाय में समन्वय एवं सकारात्मकता का भाव पैदा करते हुए ग्राम के विकास और कल्याण के लिए सामूहिक प्रयास करने के उद्देश्य से प्रत्येक ग्राम में ग्राम गौरव दिवस मनाया जायेगा। इस संबंध में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा निर्देश जारी किये गये हैं। ग्राम गौरव दिवस आयोजित कर ग्राम के विकास और कल्याण के लिए सबकी भागीदारी सुनिश्चित करने तथा दूरगामी विकास एवं कल्याण की रणनीति तैयार की जायेगी।

ग्रामों में सृजनात्मक कला के पारम्परिक ज्ञान आदि का अभिलेखीकरण कर विकास को बढ़ावा दिया जायेगा। इसके माध्यम से ग्राम से संबंधित विभूतियां जो वर्तमान में हैं एवं पूर्व में थी, से ग्राम की पहचान स्थापित करना, उनके सफल एवं अनुकरणीय कार्यों की जानकारी एकत्रित करना एवं गांव के विकास एवं कल्याण से जोड़ना, उनकी भागीदारी सुनिश्चित कराना, ग्रामों में बंधुत्व की भावना जागृत करना, पारंपरिक खेलों, नृत्य, गायन, भोजन आदि का आयोजन किया जाएगा। ग्राम गौरव दिवस मनाने के लिए ग्राम सभा द्वारा कोई एक दिवस निश्चित किया जायेगा। यह दिवस सर्वसम्मति से गांव के किसी एतिहासिक दिवस को, गांव के किसी महापुरूष, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी अथवा राष्ट्रीय या अंतर्राष्ट्रीय ख्याती प्राप्त महिला या पुरूष के जन्म दिवस को अथवा ग्राम की परंपरा में स्थापित किसी खास दिवस को गौरव दिवस के रूप में मान्य किया जा सकता है। गौरव दिवस में शामिल होने के लिए गांव के ऐसे सफल और अनुकरणीय व्यक्ति जो ग्राम से बाहर रहते हैं, उन्हें आमंत्रण पत्र भेजने के लिए कहा गया है।

गौरव दिवस ग्राम सभा में कार्रवाई प्रारंभ होने के पूर्व गांव के बुजुर्ग एवं सम्मानीय जनों का सम्मान किया जाएगा। साथ ही आगामी वर्षों में ग्राम पंचायत के विकास के लिए रणनीति तैयार करने, ज्ञान, कलां व सामाजिक मूल्यों के मापदण्डों के आधार पर व्यवहारिक रूप से पूर्ण हो सकने वाले भविष्य के लक्ष्य निर्धारित करने के लिए भी कहा गया है। साथ ही ग्राम गौरव दिवस के दौरान की गई कार्रवाई को पंचायत दर्पण पोर्टल पर भी दर्ज करने के लिए निर्देशित किया गया है।