पिपरिया में अवैध कब्जे से मुक्त कराई चार करोड़ रूपये की 20 एकड़ भूमि

Scn news india

मनोहर

पिपरिया -माफिया दमन दल ने आज रविवार को रांझी तहसील के अंतर्गत ग्राम पिपरिया में कार्यवाही कर करीब साढ़े बीस एकड़ भूमि को अवैध कब्जे से मुक्त कराकर शासन के आधिपत्य में ले ली है। इस भूमि की कीमत लगभग चार करोड़ रूपये बताई गई है।
तहसीलदार रांझी राजेश सिंह के अनुसार एसडीएम मनीषा वास्कले के नेतृत्व में दोपहर को शुरू की गई इस कार्यवाही में खसरा नंबर 252/1 और 252/2 की मध्यप्रदेश शासन एवं कोटवार के नाम दर्ज इस भूमि पर प्रेमसिंह यादव द्वारा चना एवं गेहूं की लगाई गई फसल को जेसीबी मशीन से नष्ट कर दिया गया और यहां शासन के आधिपत्य वाली भूमि का सूचना फलक लगा दिया गया है।
तहसीलदार रांझी ने बताया कि अवैध कब्जे से मुक्त कराई गई इस भूमि पर मध्यप्रदेश शासन के साथ ग्राम कोटवार किशोर सिंह वल्द मंगल सिंह का नाम दर्ज था। कोटवार किशोर सिंह की करीब 30 वर्ष पूर्व मृत्यु हो चुकी थी। तभी से उसके भतीजे विसराम का इस भूमि पर कब्जा था। ग्रामवासियों के अनुसार किशोर सिंह की मृत्यु के बाद विसराम सिंह ग्राम कोटवार का कार्य देखा करता था। हालांकि इस बारे में विसराम सिंह को शासन से कोई आदेश या जिम्मेदारी नहीं दी गई थी। विसराम सिंह की भी करीब छह माह पूर्व मृत्यु हो गई।
विसराम की मृत्यु के बाद उसकी पत्नी रामकली द्वारा अवैध रूप से इस भूमि को प्रेमसिंह यादव को ठेके पर दे दिया गया। भूमि को अवैध कब्जे से मुक्त कराने की कार्यवाही से पहले विसराम सिंह की पत्नी को नोटिस भी दिया गया, लेकिन रामकली द्वारा अपने पति के कोटवार होने का कोई प्रमाण नहीं दिया जा सका। राजस्व अभिलेखों में भी इस भूमि पर विसराम सिंह का नाम दर्ज नहीं पाया गया। पिपरिया ग्रामवासियों की मौजूदगी में की गई कार्यवाही में मौके पर अवैधानिक रूप से ठेके पर दी गई इस भूमि के चारों ओर की गई फेसिंग एवं बाउण्ड्री को तथा प्रेमसिंह यादव द्वारा लगाई गई चने और गेहूं की फसल को जेसीबी की सहायता से उखाड़ दिया गया तथा यहां मध्यप्रदेश शासन के नाम का बोर्ड लगा दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.