शादी समारोह में नाचते-नाचते दुनियां को अलविदा कह गया

Scn news india
 
हर्षिता वंत्रप 
बैतूल-बैतूल जिले की घटना ने 70 के दशक की फिल्म आनंद के उस डायलॉग की याद दिला दी  जिसमे राजेश खन्ना अभिताभ बच्चन से कहते है – बाबू मोशाय ये दुनियां एक रंगमंच है , इसकी डोर उपरवाले के हाथों में है। जिंदगी की डोर वास्तव में ऊपर वाले के हाथ में हैं और वह कब आपकी डोर खींच लेगा किसी को नहीं पता। यही नजारा शनिवार रात को बैतूल जिले के पाढर गांव के पास स्थित जामून गांव में भी देखने को मिला। ग्राम जामुनढाना में हो रही शादी में रात के 10 बजे एक शादी में पास की ही डोरी गांव का निवासी युवक अंतुलाल उईके (30) डांस कर रहा था। वह अचानक नाचते-नाचते ही वह जो गिरा तो दोबारा उठ नहीं पाया।
उसे गिरा देख कर दोस्त और अन्य मौजूद लोग समझते रहे कि वह एक्टिंग कर रहा है। इसके चलते काफी देर तक कोई उसके पास भी नहीं आए। हालांकि जब तक लोग माजरा भांपते, तब तक बहुत देर हो चुकी थी। हकीकत सामने आते ही विवाह स्थल पर अफरा तफरी का माहौल बन गया। युवक को तत्काल अस्पताल लाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। जिला अस्पताल पुलिस चौकी प्रभारी सुरेंद्र वर्मा ने बताया कि युवक को मृत अवस्था में अस्पताल लाया गया था शार्ट पीएम में उसके हाल्ट में खून का थक्का जमना पाया गया है। मामला शाहपुर थाने के अंतर्गत है इसलिए डायरी शाहपुर थाने भेजी जाएगी।
बताया जाता है कि अंतु लाल गांव के ही प्रेम कुमरे के बेटे की शादी में गया हुआ था। इस दौरान वह डांस कर रहा था। वह पांच बहनों का एक अकेला भाई था। उसकी एक 5 साल की बेटी भी है। पिता पैरालाइसिस पीड़ित है।