कोरोनावायरस से मुक्ति हेतु ब्रह्माकुमारीज के हजारों भाई बहनों ने की प्रार्थना

Scn news india

हर्षिता वंत्रप 

भोपाल-प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के संस्थापक प्रजापिता ब्रह्मा बाबा का 53 वां स्मृति दिवस आज सम्पूर्ण विश्व मे स्थित ब्रह्माकुमारीज के  सभी सेवाकेन्द्रों मे विश्व शांति दिवस के रूप मे मनाया गया | 18 जनवरी 1969 को संस्था के साकार संस्थापक और विश्व शांति के प्रणेता पिता श्री  ब्रह्मा बाबा ने अपना पार्थिव शरीर त्याग किया था | उनकी स्मृति दिवस पर हर साल देश विदेश के हर सेवा केंद्रों पर योग साधना की जाती है एवं उनके गुणों का स्मरण किया जाता है ।

भोपाल स्थित  ब्रह्माकुमारीज रोहित नगर सेवाकेन्द्र मे भी आज ब्रह्म मुहूर्त से ही योग साधना का दौर शुरू हो गया | श्वेत वस्त्रधारी ब्रह्माकुमार ब्रह्माकुमारी भाई बहने आज विशेष मौन धारण कर प्रातः काल से ही ईश्वर की याद मे खोए हुए नजर आ रहे थे | सेवाकेन्द्र के मेडिटेशन हाल में साइलेन्स के वातावरण मे  बैठकर सभी ने विश्व शांति के लिए प्रार्थना की |

बी. के. डॉ. रीना दीदी ने इस अवसर पर  प्रजापिता ब्रह्मा बाबा के चरित्र पर प्रकाश डालते हुए कहा कि ब्रह्मा बाबा त्याग, तपस्या एवं विश्व सेवा की प्रतिमूर्ति थे | उन्होंने सन् 1936 में ईश्वरीय शक्ति से प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की स्थापना की | उस समय जब भारत में अनेक कुप्रथाएं जैसे सती प्रथा, बाल विवाह, दहेज प्रथा, आदि थीं,  उस समय उन्होंने नारी को आध्यात्मिक रूप से सशक्त करने का महान कार्य किया | उनकी यह दूरदर्शिता ही थी कि आज ब्रह्माकुमारीज संस्थान महिलाओं द्वारा संचालित विश्व का सबसे बड़ा संस्थान है | उन्होंने योग एवं आध्यामिक ज्ञान की अलख जगाकर नारी सशक्तिकरण का अनूठा कार्य किया |  आज उनके स्मृति दिवस पर हम सब उनकी शिक्षाओं को जीवन मे धारण करने का संकल्प लें |

इस अवसर पर रोहित नगर भोपाल सेवाकेन्द्र में ब्रह्मा बाबा के समाधि स्थल पांडव भवन माउंट आबू स्थित शांति स्तम्भ जैसा हूबहू मॉडल बनाया गया | स्मृति दिवस के अवसर पर सभी बी के भाई बहनों ने श्रद्धासुमन अर्पित किए | कुछ भाई बहनों नें तीन  दिन की योग साधना के अनुभव साझा किए, जिसमें उन्होंने बताया कि इन तीन दिनों मे उनका मन पूरी तरह से स्थिर एवं शांत था | कोई भी नकारात्मक एवं व्यर्थ विचार मन मे नहीं आए | विश्व शांति के प्रकंपन फैलाकर उन्हे आत्म संतुष्टि मिली|

संस्था की ओर से विश्व स्तर पर शांति के लिए योग साधना के तीन दिवसीय कार्यक्रम का आज ब्रह्मा बाबा के स्मृति दिवस पर समापन हुआ | 16 से 18 जनवरी तक देश विदेश में ब्रह्माकुमारी के सभी सेवा केंद्रों पर विशाल स्तर पर साइलेंस मेडिटेशन का कार्यक्रम आयोजित किया गया | देश विदेश से कुल 10 लाख  लोग इस साइलेंस मेडिटेशन में शामिल हुए | योग के लिए अलग अलग टॉपिक के आधार पर मेडिटेशन कॉमेंट्री और परमात्मा की अनुभूति कराई गई  | संस्था की अतिरिक्त मुख्य प्रशासिका बी के मोहिनी दीदी एवं बी के जयंती दीदी नें इस अवसर पर ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस साइलेंस मेडिटेशन में शामिल होने हेतु प्रेरित किया |

तीन दिवस तक चले योग साधना कार्यक्रम में हजारों ब्रम्हाकुमारी भाई बहनो ने योग साधना में बैठकर विश्व शांति के प्रकम्पन फैलाएं एवं कोरोनावायरस से मुक्ति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की  |