स्वच्छ भारत अभियान के तहत नगर पालिका ने की गतिविधियां

Scn news india

ब्यूरो रिपोर्ट 

सारनी। स्वच्छ भारत मिशन की गाइड लाइन के अनुसार नगर पालिका परिषद सारनी द्वारा स्वच्छ टेक्नोलॉजी चैलेंज का आयोजन व प्रस्ताव जारी किए गए थे। जिसमें प्रमुख तीन कचरा मुक्त शहर, सामाजिक समावेश जीरो वेस्ट, प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट, निगरानी एवं पारदर्शिता आदि थे। जिसका उद्देश्य शहर में कचरा मुक्त तकनीकी नवाचार और सामाजिक उद्यमों को सीमित लागत की व्यवसायिक मॉडल्स में प्रस्ताव आमंत्रित करना था।

पिंक टॉयलेट पर लोगों ने साझा किए अनुभव

नगर पालिका सारनी द्वारा नागरिकों के जीवन पर पड़ने वाले प्रभाव का अनुभव जैसे पिंक टॉयलेट पहले कचरे के ढेरों का उपचार कचरा वाहन की उपलब्धता शहर की स्वच्छता झाड़ू व अन्य विभिन्न प्रकार के परिवर्तन संबंधित विचार लिए। इन बदलावों से नागरिकों के जीवन पर विशेष प्रभाव पड़ा है। स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत अपने अनुभव लिखकर साझा किए गए।

वार्ड 17 को स्वछता के लिए बनाया आत्मनिर्भर
नगर पालिका परिषद सारनी द्वारा वार्ड क्रमांक 17 महाराणा प्रताप पार्ट को आत्मनिर्भर वार्ड बनाया गया। जिसमें कचरा कम करने हेतु लोगों को जागरूक किया गया। वहां के लोग घर से निकलने वाली गीले कचरे को कंपोस्ट पीठ में एकत्र कर खाद बनाने का कार्य करेंगे। एवं सूखा कचरा री साइकल हेतु देंगे। ऐसा करने वालों में आर्यन कुमार, बालक राम व अन्य कमेटी के लोग शामिल है। यहां के लोगों ने नगर पालिका का भरपूर सहयोग करने का आश्वासन भी दिया।