धान खरीदी के मैसेज ना आने से किसान परेशान धान से भरा ट्रैक्टर ट्राली लेकर किसान पहुंचे कलेक्ट्रेट कार्यालय

Scn news india

दतिया से विकास सेन की रिपोर्ट

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भले ही किसानों के लिए लाभ पहुंचाने का लाख प्रयास कर रहे हैं और किसानों धान उपार्जन को लेकर परेशानी ना हो उसके लिए समस्त अधिकारियों से निर्देशक भी किया है साथ ही दतिया विधायक एवं प्रदेश के गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने भी धान उपार्जन को लेकर जिले के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि किसानों को कोई परेशानी का सामना ना करना पड़े लेकिन फिर भी दतिया जिले की किसान धान उपार्जन को लेकर मैसेज ना आने से परेशान हो रहे ऐसा ही मामला जब उजागर हुआ जब एक किसान धान से भरा ट्रैक्टर ट्रॉली को लेकर कलेक्ट्रेट कार्यालय जा पहुंचा एवं साथ में लगभग 2 दर्जन से अधिक किसान पहुंचे।

किसानों का कहना है कि पहले तो हमने बड़ी मेहनत करके अपने खेतों में धान उगाई है और अपने खातों का सत्यापन बड़ी मुश्किल से करा पाए हैं जिसके लिए तहसीलदार एवं पटवारी के कई चक्कर लगाने पड़े हैं धान खरीदी के मात्र दो ही दिन बचे हैं लेकिन अभी तक हम लोगों के पास कोई मैसेज नहीं आया है

किसानों का कहना है कि पहले तो हमने बड़ी मेहनत करके अपने खेतों में धान उगाई है और अपने खातों का सत्यापन बड़ी मुश्किल से करा पाए हैं जिसके लिए तहसीलदार एवं पटवारी के कई चक्कर लगाने पड़े हैं धान खरीदी के मात्र दो ही दिन बचे हैं लेकिन अभी तक हम लोगों के पास कोई मैसेज नहीं आया है जिसके चलते ना तो कोई धर्म कांटा हमारी धान की तुलाई कर रहा है और ना ही हमारी धान की बिक्री की जा रही है हमारी धान एक नंबर की क्रांति धान है अगर वह नहीं बिकी तो हम लोग कंगाल हो जाएंगे आज हम लोग परेशान होकर अपनी धान ट्रैक्टर ट्राली में भरकर कलेक्ट्रेट कार्यालय आए हैं और कलेक्टर साहब से मैसेज आने की अपील कर रहे हैं अगर मैसेज नहीं आया तो हम अपनी धान यही फैलाकर चले जाएंगे।

वहीं इस पूरे मामले में जब जिला खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति अधिकारी से बात की गई तो उन्होंने पहला मैसेज भेजने की बात करते हुए दूसरे मैसेज भेजने का दतिया कलेक्टर पर दोस मढ़ते हुए अपना पल्ला झाड़ लिया ।
अब देखना यह है कि इन किसानों की धान विक्रय होने के लिए 2 दिन में मैसेज आता है यह या नहीं या तो इन अन्य दाताओं की मेहनत पर पानी फिर जाएगा या फिर दतिया कलेक्टर किसानों की धान खरीदी की तारीख बढ़ाकर मैसेज कार्यवाही में शक्ति दिखाएंगे यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा की अन्य दाताओं के भाग्य में क्या होता है।