अगर बदलने हैं, तो अपने रास्ते बदलो इरादे नहीं- भुस्कुटे

Scn news india

धनराज साहू ब्यूरों

स्वामी विवेकानन्द की जयंती युवा दिवस के रूप में मनाई

भैंसदेही विकास खंड के शासकीय नवीन माध्यमिक शाला बेलढाना में बुधवार को युवाओं के प्रेरणा स्रोत स्वामी विवेकानंद जी की जयंती युवा दिवस के रूप में मनाई गई सर्वप्रथम शिक्षकों एवं छात्रो ने स्वामी विवेकानन्द जी के छाया चित्र के सम्मुख दीप प्रज्वलित कर माल्यार्पण किया।इस अवसर पर प्रभारी प्रधान पाठक श्रीराम भुस्कुटे ने स्वामी विवेकानंद जी के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए कहा कि विश्व में भारतीय संस्कृति को स्थापित करने वाले युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत स्वामी विवेकानंद ने युवाओं को संदेश दिया कि अगर बदलने हैं तो अपने रास्ते बदलो इरादे नहीं।उठो जागो और तब तक मत रुको जब तक की लक्ष्य की प्राप्ति न हो जाए।उन्होंने कहा था चिंतन करो,चिंता नहीं। जब तक जीना – तब तक सीखना। एक समय में केवल एक काम करना चाहिए।सदैव माता, पिता एवं गुरु का सम्मान करना चाहिए। इस अवसर पर प्रभारी प्रधान पाठक श्रीराम भुस्कुटे,शिक्षक श्रीमती शारदा वानखेड़े, वनमाला गावंडे,मुकेश पटने ,बिसराम जावलकर सहित स्कूली बच्चे उपस्थित थे।