तीसरी लहर के अंदेशे ने पुरानी यादों को फिर से किया हरा, गाँवों के रास्ते बंद होने शुरू

Scn news india

मनोहर

छिंदवाड़ा -कोरोना महामारी के पहले और दूसरे दंश से अभी पूरी तरह उभरे भी नहीं थे कि तीसरी लहर की सुगबुगाहट के अंदेशे ने पुरानी यादों को फिर हरा कर दिया है। लेकिन अच्छी बात ये है की पुराने दर्द ने संकट से उभरने के रास्ते भी सीखा दिए है।

कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से बचाव एवं रोकथाम के लिये जिले के विकासखंड जुन्नारदेव के ग्रामों में रोका-टोको अभियान के अंतर्गत ग्राम तेली बट, खैरवानी और मुसनी ढाना में ग्रामवासी बैरीकेट लगाकर बाहर से आने वाले व्यक्तियों की निगरानी कर रहे हैं और मास्क लगाने की समझाईश भी दे रहे हैं । तो वही जनपद पंचायत हर्रई के ग्राम पलानी, साठिया और बैछापार में भी बाहरी व्यक्तियों के आने-जाने पर प्रतिबंध संबंधी कार्यवाही की गई ।