पुलिस ने मालवाहक रिक्शा में लोड कर पीड़ित को पहुँचाया जिला अस्पताल के अंदर

Scn news india

सुनील यादव कटनी 
मानवता की मिसाल पेश करती पुलिस की अनेकों तस्वीर सामने आती हैं लेकिन कटनी में पुलिस का एक अमानवीय चेहरा सामने आया है । वैसे तो किसी घायल या सड़क पर तड़प रहे पीड़ित को हॉस्पिटल ले जाने के लिए सरकार की अनेकों योजनाएं संचालित हैं , लेकिन कटनी शहर के हृदय स्थल माने जाने वाले सुभाष चौक पर तड़प रहे एक युवक को वहां तैनात पुलिस ने एक रिक्शे में लटका कर हॉस्पिटल पहुंचा दिया, पुलिस ने सुविधा 108 अथवा हंड्रेड डायल को बुलाने की ज़हमत नहीं की और पीड़ित को माल ढोने वाले रिक्शे में लाद दिया यह नजारा जिसने भी देखा हैरत में पड़ गया।

कटनी जिला अस्पताल में एक रिक्सा ठेले वाला गंभीर हालत में एक मरीज को अपने ठेले में लाद सीधे अस्पताल पहुँचा और उस ठेले वाले के द्वारा कई बार वहां के स्टॉप से गुजारिश करने के बाद भी मरीज को अस्पताल के अंदर नही ले जाया गया तो वह परेशान हो रिक्से में ही मरीज को अस्पताल के अंदर ले गया,रिक्सा ठेले वाला बहुत देर तक अस्पताल के अंदर ठेले में लोड पीड़ित मरीज के इलाज़ के लिए स्वास्थ्य स्टॉप से गुजारिश करता रहा लेकिन वहां का स्वास्थ्य स्टॉप ठेले में लोड मरीज की तरफ ध्यान ही नही दे रहे थे।

गंभीर हालत में जिला अस्पताल में ठेले में पहुँचा मरीज सुभाष चौक में बेहोशी की हालत में पड़ा हुआ था जिसे रिक्सा ठेले वालो को रोक जिला अस्पताल पहुँचाने के लिए मरीज को ठेले में लाद दिया था लेकिन रिक्सा ठेले वाला बहुत देर तक जिला अस्पताल के बाहर बहुत देर तक वहां के स्टॉप का इंतजार करता रहा,लेकिन जब स्वास्थ्य विभाग का स्टॉप उस मरीज को ठेले में देख वहां से निकल जाते और उसे भर्ती कर उसका इलाज़ करने की कोई ने भी गनीमत नही उठाई। तब जाकर रिक्सा ठेले वाला परेशान हो सीधे अस्पताल के अंदर रिक्से में लोड मरीज को लेकर अस्पताल के अंदर ही पहुँच गया और वहां डॉक्टरों व स्टॉप नर्स से मरीज को भर्ती करने के लिए लाख गुजारिश की।