उजड़ती सारनी को बचाने अब व्यापारियों के साथ नागरिकों ने भी जन आंदोलन छेड़ने की योजना बनाई

Scn news india

सारनी से ब्यूरो रिपोर्ट 

सतपुड़ा ताप विद्युत गृह में 660 मेगावाट की सुपरक्रिटिकल यूनिट लगाने की घोषणा मुख्यमंत्री ने की थी किन्तु यह यूनिट अब चचाई में लगाए जाने की खबर मिलते ही सारनी पाथाखेड़ा क्षेत्र के लोग स्वयं को ठगा सा महसूस कर रहे हैं और लोगों में आक्रोश व्याप्त हैं।

शहर बचाने की मुहिम में अब   युवा संघर्ष मंच के साथ महाविद्यालयीन एवं स्कूली छात्र छात्राएं आग गई है।  एक चिट्ठी सीएम के नाम अभियान को तेज करते हुए बुधवार को दोपहर बाद बगडोना  कॉलेज  छात्र छात्राओं ने भी  उजड़ते शहर को बचाने के लिए पोस्टकार्ड पर मन की बात लिखते हुए शहर बचाने के लिए मुख्यमंत्री से पावर प्लांट और खदान खुलवाने की मांग की हैं।

बता दे की सारनी क्षेत्र में लगातार कोयला खदानों के बंद होने और पॉवर प्लांट की कई यूनिटें बंद होने से रोजगार ख़त्म हो गए है। और लोगों पलायन के पलायन से व्यापार की स्थिति डांवाडोल हो गई है। जिस के लिए उजड़ती सारनी को बचाने अब व्यापारियों के साथ नागरिकों ने भी आंदोलन छेड़ने की योजना बनाई है।