बड़ी खबर -पंचायत वार ओबीसी मतदाताओं की गणना सूची बनाने का कार्य शुरू -7 जनवरी तक समय सीमा तय

Scn news india

मनोहर

प्रदेश सरकार के आदेश के बाद अब सभी जिलों में पंचायत वार ओबीसी मतदाताओं की गणना सूची बनाने का कार्य शुरू जो गया है।  सरकार ने सभी जिला कलेक्टरों को निर्देशित किया  है कि  7 जनवरी तक अनिवार्यतः वोटरों की गिनती कर सभी ग्राम पंचायतों की वार्ड इकाईवार और पंचायत वार जानकारी एक्सेल शीट  पर भेजें ।

 राज्य सरकार के आदेश के बाद  पहली बार ओबीसी वोटरों की गिनती शुरू करा दी गई है। इसका जिम्मा 22 हजार पंचायत सचिवों, 12 हजार पटवारियों और 20 हजार रोजगार सहायकों को दिया गया है। इन्हें दस दिन के समय सीमा में अनिवार्यतः  पूरा करना है।

हालांकि  सरकार ने वोटरों की गिनती के पीछे मप्र पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग के पत्र का हवाला दिया है, जिसमें कहा गया कि ओबीसी आयोग पिछड़ा वर्ग की जातियों का अध्ययन कराना चाहता है। दस दिन में वोटरों की गिनती से जुड़ी एक्सेल शीट पिछड़ा वर्ग आयुक्त जीसी डाड को भेजनी है। बता दे की इसके पीछे सरकार ये भी सुनिष्चित करना चाहती है की ओबीसी वर्ग के नाराजगी का नुकसान प्रतिशत कितना हो  सकता है। वही ओबीसी वर्ग की भी वर्षो से सरकार से यही मांग है की ओबीसी वर्ग की जातिगत गणना की जाय ऐसे में ये भी माना जा रहा है की सरकार का यह कदम ओबीसी वर्ग को खुश करने और उनकी नाराजगी को दूर करने का भी  हो सकता है। बरहाल जो भी हो लेकिन इससे पंचायत वार ओबीसी मतदाताओं की गणना सूची बनने से आगामी समय में ओबीसी आरक्षण की दिशा व् दशा में लिए जाने वाले फैसलों में तेजी जरूर आएगी।