पैर से विकलांग सांईखेड़ा के चंद्रशेखर अब राष्ट्रीय स्तर पर खेलेंगा

Scn news india

मनोहर 

नेशनल पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप:-ओड़िशा में होगी प्रतियोगिता
खोया एक पैर मगर हौसला नहीं खोया,
पैर से विकलांग सांईखेड़ा के चंद्रशेखर अब राष्ट्रीय स्तर पर खेलेंगे 

सांईखेड़ा:- लगन और महेनत से किसी भी लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है। इसे साबित कर दिया ग्राम सांईखेड़ा के एक मध्यमवर्गीय किसान परिवार में जन्मे 34 वर्षीय चंद्रशेखर माकोड़े ने शुरू से ही अपने संघर्षपूर्ण जिंदगी में आर्थिक परेशानियों से जूझते हुए ग्राम के सरकारी स्कूल में अपनी शिक्षा पूर्ण की एवं मेहनत और लगन से पुलिस विभाग में सन 2008 में पदस्थ हुए।


कर्तव्यनिष्ठ एवं सजग प्रहरी की तरह अपनी ड्यूटी करते हुए सन 2013 में ड्यूटी के दौरान एक गंभीर दुर्घटना में उन्होंने अपना एक पैर खो दिया।
एक पैर कट जाने के बाद भी हिम्मत नहीं हारी और अपने जीवन में संघर्ष जारी रखा, फिजिकल एक्सरसाइज ग्राउंड में मेहनत और खेल को नहीं छोड़ा।
चंद्रशेखर द्वारा अभी तक दिल्ली, लखनऊ, भोपाल, इंदौर समेत कई शहरों में 10 से अधिक सिटी मैराथन कंप्लीट की जा चुकी है। मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के कई ऊंचे पर्वत शिखरों पर पर्वतारोहण कर अपना परचम लहराया है। चंद्रशेखर ने महा नवंबर में मध्यप्रदेश राज्य पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप 2021 ग्वालियर में आयोजित राज्य स्तरीय पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप में sl4 केटेगरी में मध्यप्रदेश में द्वितीय स्थान हासिल किया।


मध्यप्रदेश राज्य पैरा स्पोर्ट्स एसोसिएशन द्वारा मध्यप्रदेश पैरा बैडमिंटन टीम में चयन होने के बाद अब चंद्रशेखर मध्यप्रदेश पैरा बैडमिंटन टीम में राष्ट्रीय स्तर पर महा दिसंबर में राष्ट्रीय पैरा चैंपियनशिप 2021 उड़ीसा भुवनेश्वर मैं मध्यप्रदेश टीम से खेलेंगे।
यह नेशनल पैरा बैडमिंटल चैम्पियनशिप 24 से 26 दिसम्बर तक चलेगी।
श्री चंद्रशेखर बताते हैं जिंदगी में समस्याओं का आना पार्ट ऑफ लाइफ है लेकिन अपनी मेहनत और सूझबूझ से इनमें से निकलना आर्ट ऑफ लाइफ है जीवन में धैर्य और संघर्ष के साथ जीवन में आने वाली हर चुनौती का सामना किया जा सकता है हमें अपना धैर्य और परिश्रम नहीं खोना चाहिए।