सँयुक्त किसान मोर्चा ने फटाके फोड़ मिठाई बाट मनाया जीत का जश्न

Scn news india

मनोहर

  • आंदोलन में शहीद किसानों ,आर्मी चीफ विपिन रावत उनकी पत्नी समेत 13 लोगों को 
  • श्रधांजलि अर्पित कर अनिश्चित काल के लिए किया आंदोलन स्थगित
  • एकता बनाये रखने का लिया संकल्प

सिवनी/ तीन किसान विरोधी काले कानूनों की विगत दिनों प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद भी किसानों का आंदोलन अनवरत जारी रहा ।न्यूनतम समर्थन मूल्य गैरंटी कानून बनाये जाने ,आंदोलन में शहीद किसानों को मुआवजा,बिजली संशोधन बिल,किसानों के ऊपर थोपे गये मुकदमों को वापस लेने जैसी अन्य मांगों पर मोदी सरकार के लिखित आश्वासन के बाद आज विगत 1 साल से अधिक समय से चल रहा किसान आंदोलन को देश की राजधानी दिल्ली सहित समूचा देश मे अनिश्चित काल के लिए मोर्चा ने स्थगित कर दिया गया है।


सँयुक्त किसान मोर्चा की ओर से जिला प्रवक्ता राजेश पटेल ने बताया कि आजादी के बाद देश का व सिवनी जिले के इतिहास में यह सबसे लंबे चलने वाला आंदोलन रहा जो सिवनी में अनवरत 105 दिन व लखनवाड़ा थाना के जैतपुर कला में अनवरत 82 दिन के बाद स्थगित किया गया है।तीन किसान बिल जो मोदी सरकार कोरोना महामारी के संकटकाल में असंवैधानिक तरीके से लाई थी जिसे रदद् करने वापसी की लड़ाई में 750 से अधिक किसानों ने अपनी शहादत दी सिवनी जिला भी इस संघर्ष में अछूता नहीं रहा। मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष कामरेड अली एम आर खान इस संघर्ष की जंग में जीत के बाद जीवन की जंग हार गए।

जिन्हें आज शहीद किसानों आर्मी चीफ विपिन रावत व अन्य 13 लोगों के साथ लाल सलाम, अली एम आर खान के सपनों को मंजिल तक पहुचाँना जैसे नारों के साथ श्रधांजलि दी गई व संगठन उनके सपनों को देशहित जनहित शासनहित न्यायहित के लिए कृतसंकल्पित है।
मोर्चा के अध्यक्ष पी आर इनवाती सहित सभी संगठन के पदाधिकारियों ने संविधान निर्माता डॉ अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यापर्ण उपरांत फटाके फोड़ एक दूसरे को गले मिल किसानों के लंबे संघर्ष की जीत की शुभकामनाएं प्रेषित की।ढोल बाजे नगाडों के साथ नाचकुद कर जीत का जश्न मनाया । मोर्चा के संरक्षक डी डी वासनिक ने कहां संघर्ष जितना कठिन होता है। कामयाबी उतनी बेमिशाल होती है। किसानों ने भारतीय लोकतंत्र का गला घोंट कर हिटलर की तरह चल रही भाजपा की मोदी सरकार को झुका कर जीत अपने खाते में डाल यह सिद्ध कर दिया है हजारों षड्यंत्रों को विफल करते हुए कामयाबी हासिल की है।

अधिवक्ता जयदीप बैस ने किसानों की ओर से संघर्ष की जीत पर बाटे सवा क्विंटल लड्डू

किसान मोर्चा के प्रवक्ता राजेश पटेल ने बताया की किसानों के संघर्ष में प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग कर रहे सभी नागरिकों किसान मजदूर युवा नौजवान पत्रकार बंधुओं सरकारी सेवा में कार्यरत कर्मचारियों अधिकारियों व अन्य सभी का मोर्चा ने सधन्यवाद के साथ भविष्य में जनविरोधी नीतियों की ऐसी ही एकजुटता के साथ सहयोग की अपील की है। किसान पुत्र गोरखपुर से पूर्व सरपंच व सरपंच संघ के अध्यक्ष रहे समाजिक कार्यो में सदा बढ़चढ़कर रुचि रखने वाले समाज के प्रति हमेशा बेहतर सोच के साथ कार्य करने वाले विद्वान अधिवक्ता जयदीप बैस व उनके साथियों की ओर से किसानों के इस संघर्ष की जीत पर सवा क्विंटल लड्डू धरना पर उपस्थित जनों व राहगीरों को किसानों की तरफ से धरना स्थल पहुँच बाँटे गए।

मोर्चा के संरक्षक राजेन्द्र जयसवाल ने सभी किसान संगठनों को ओर अधिक मजबूत करने व समय समय पर जनजाग्रति के कार्यक्रम किसान चौपाल आयोजित करने की अपील की है।आचार संहिता समाप्त होने के बाद भविष्य में आभार यात्रा निकालने की बात अपने उद्बोधन में कही है वही मोनू राय ने जिले में चल रहे धान उपार्जन केंद्रों में हो रही अनियमितताओं पर संगठन के लोगों को दल बनाकर किसानों के मदद करने का संगठन के सदस्यों से आह्वान किया है। किसान नेता हुकुम सनोडिया ने किसानों के मुद्दों के साथ अन्य ज्वलंतशील मुद्दों पर सक्रियता से लड़ाई लड़ने का आश्वासन अपने उदबोधन में कहां है।


आज के कार्यक्रम में प्रमुख रूप से किसान संघर्ष समिति,अखिल भारतीय किसान सभा,अन्नदाता किसान संगठन,राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ शिव कुमार कक्का जी,जुनून फाउन्डेशन, ओबीसी किसान मोर्चा, एटक व अन्य संगठनों के साथ मोर्चा के पदाधिकारियों जिसमे प्रमुख रूप से लक्ष्मी वासनिक,रजनी गोखले,मो सलाम कुरैशी,यीशु प्रकाश,अशोक भलावी,रंजीत वासनिक,अशोक साहू,ईश्वर सिंह राजपूत,अधिवक्ता अहमद सईद कुरैशी, रामकुमार सनोडिया व अन्य सैकड़ो किसान समर्थक साथियों का अतुलनीय योगदान रहा ।

किसानों की ऑनलाइन महापंचायत आज

सँयुक्त किसान मोर्चा के प्रवक्ता राजेश पटेल ने आगे बताया की हर महीने की तरह आज 12 दिसबंर को भी बहुजन संवाद के फेसबुक व यूट्यूब चैनल पर 11 बजे से 1 बजे तक किसानों की महापंचायत पूर्व विधायक डॉ सुनीलम के नेतृत्व में आयोजित है। जनसमस्याओं पर रोज की तरह 7 बजे अलग अलग जिलो के समाचार प्रसारित किए जाते रहे।

Live Web           TV